Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

जन्म से बेसुध पड़े हैं कलेरा की नागणी और द्रुघ के संतोष,सहायता की लगाई गुहार

पंचायत प्रधान पीर सहाय ने सहारा योजना में शामिल करने की उठाई मांग


पधर(मंडी)। कृष्ण भोज
द्रंग क्षेत्र के इलाका दुंधा की ग्राम पंचायत बड़ीधार के कलेरा गांव की नागणी देवी और बह पंचायत के द्रुघ गांव का संतोष कुमार बचपन से ही दिव्यांग हैं। शारीरिक रूप से पूर्णतः विकलांग होने से दोनों चलने फिरने में पूरी तरह असमर्थ हैं। परिजन विकट परिस्थितियों में दोनों का पालन पोषण कर रहे हैं। स्थानीय पंचायत प्रतिनिधियों ने दोनों को सहारा योजना में शामिल कर परिवार को आर्थिक सहायता प्रदान करने की गुहार लगाई है। 
बह पंचायत प्रधान पीर सहाय ठाकुर ने बताया कि अपंगता के साथ साथ मानसिक रूप से भी दिव्यांग होने के चलते कलेरा गांव की नागणी देवी (46) सपुत्री पूर्ण चंद और बह पंचायत के द्रुघ गांव का संतोष कुमार (36)सपुत्र हेम चंद गांव बचपन के बाद से ही बिस्तर में बेसुध पड़े हैं। माता पिता ने मुश्किल से दोनों का पालन पोषण कर बड़ा तो किया लेकिन अब देखभाल करने में खासी दिक्कतें उन्हे झेलनी पड़ रही हैं। परिवार के एक व्यक्ति को हर वक्त साथ रहना पड़ता है। जिस वजह से घर के कामकाज की दिनचर्या भी हर समय प्रभावित रहती है। 
उन्होंने कहा कि दोनों दिव्यांगों के आवेदन सहारा योजना के लिए सीएमओ कार्यलय मंडी में जमा करवाए गए हैं। लेकिन अभी तक दोनों को लाभ नही मिल पाया है। 
उन्होंने सरकार और प्रशासन से गुहार लगाई है कि दोनों को सहारा योजना से शीघ्र लाभान्वित किया जाए। 


Post a Comment

0 Comments

आखिर क्यों राशन डिपुओं से हुई चीनी गायब