Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

कृषि विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों का रिकॉर्ड

                            87 विद्यार्थियों ने राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (एएसआरबी) नेट में सफलता पाई

पालमपुर,रिपोर्ट प्रवीण शर्मा 

चौधरी सरवन कुमार हिमाचल प्रदेश कृषि विश्वविद्यालय के रिकॉर्ड संख्या में 87 स्नातकोत्तर छात्रों ने इस वर्ष राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (एएसआरबी) उत्तीर्ण की है। नेट उत्तीर्ण छात्रों और उनके शिक्षकों के लिए एक चाय पार्टी की मेजबानी करते हुए, कुलपति प्रोफेसर एच.के. चौधरी ने कहा कि यह यह विश्वविद्यालय के लिए गर्व और खुशी की बात हैं।

प्रो. चौधरी ने कहा कि लगातार कड़ी मेहनत करने और छात्रों और शिक्षकों के बीच गहन चर्चा करने से ही सफलता मिलती है। उन्होंने इस वर्ष की शानदार सफलता के लिए छात्रों, शिक्षकों और सहायक कर्मचारियों की सराहना की। उन्होंने कहा कि भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के कृषि वैज्ञानिक भर्ती बोर्ड और राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी द्वारा अप्रैल में यह परीक्षा आयोजित की गई थी 25 जुलाई को इसका परिणाम घोषित किया गया।

उन्होंने बताया कि 84 पीजी छात्रों ने एएसआरबी द्वारा आयोजित नेट-2023 उत्तीर्ण किया जबकि 3 छात्रों ने एनटीए द्वारा आयोजित यूजीसी नेट उत्तीर्ण किया  हैं। नेट देश भर में स्थित कृषि विश्वविद्यालय और अन्य विश्वविद्यालयों में सहायक प्रोफेसर या समकक्ष पदों के लिए आवेदन करने के इच्छुक उम्मीदवारों के लिए योग्यता परीक्षा है। इस परीक्षा में उत्तीर्ण होने वाले 87 छात्रों में से 67 कृषि महाविद्यालय के हैं, 18 डा.जी.सी.नेगी पशु चिकित्सा एवं पशु विज्ञान महाविद्यालय से हैं। इसके अतिरिक्त एक-एक छात्र आधारभूत विज्ञान महाविद्यालय और सामुदायिक विज्ञान महाविद्यालय से हैं।

कुलपति ने कहा कि यह विश्वविद्यालय की स्थापना के बाद से सबसे अच्छा प्रदर्शन है और छात्रों को प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए तैयार करने के लिए विश्वविद्यालय में एक कैरियर विकास केंद्र स्थापित करने का प्रयास किया जाएगा। इसके लिए प्रदेश सरकार से बातचीत चली हुई है। प्रो. चौधरी ने कहा कि विद्यार्थी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी भी साथ-साथ करें ताकि प्रशासनिक सेवाओं में अपना भविष्य बनाया जा सकें। उन्होंने छात्रों से अपने-अपने क्षेत्र में कड़ी मेहनत करने और अपने साथ-साथ अपने संस्थान का नाम रोशन करने का आह्वान किया।

डीन पी.जी. डा. सुरेश उपाध्याय, अनुसंधान निदेशक डा. एस.पी.दीक्षित, पुस्तकालयाध्यक्ष डा. आर.के. कपिला, वित्त नियंत्रक वी.आर.राठौर, डा. आर.एस.चंदेल और पंकज सूद ने भी छात्रों और शिक्षकों को उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए बधाई दी। कुछ छात्रों ने भी अपने विचार व्यक्त किए और शिक्षकों और विश्वविद्यालय के प्रति आभार व्यक्त किया। सभी वैधानिक अधिकारी, विभागाध्यक्ष और वैज्ञानिक समारोह के दौरान मौजूद रहे।


Post a Comment

0 Comments

बिलासपुर में हादसा, खाई में गिरी कार