Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा की सुरक्षा में चूक,काफिला रोकने बाले पुलिस जवानों के खिलाफ एफआईआर

पुलिस जवानों के परिजनों ने रोका था नड्डा का काफिला

बिलासपुर, रिपोर्ट
बिलासपुर में भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा का काफ़िला रोकने वाले पुलिस जवानों के परिजनों के ख़िलाफ़ एफआईआर दर्ज़ कर ली गई है। एसपी बिलासपुर से 6 दिसंबर तक मामले की रिपोर्ट तलब की  गई है। एडीजीपी को विस्तृत रिपोर्ट देनी होगी। गौर रहे जेपी नड्डा का काफ़िला लुहुनु मैदान से एम्स आते वक्त पुलिस की मांगों को लेकर उनके परिजनों ने रोक लिया था। राष्ट्रीय अध्यक्ष की सुरक्षा में इसकी बड़ी सेंध माना जा रहा है। दूसरी तरफ पुलिस ने 4 सदस्यीय कमेटी का गठन कर पुलिस के वेतनमान की विसंगति को लेकर एक कमेटी का भी गठन किया है। 
इससे पहले मामले को लेकर पुलिस जवान मुख्यमंत्री के सरकारी आवास का भी घेराव कर चुके हैं।

हिमाचल में 2012 तक कांस्टेबल को नियमित जैसा ही वेतनमान मिलता था। लेकिन वित्त विभाग ने 2013 से कांस्टेबल की भर्ती को तो नियमित किया पर पूरे वेतनमान के लिए आठ साल तक इंतजार करने की शर्त जोड़ी। अब कांस्टेबल में भर्ती होने पर नियमित के बराबर आर्थिक लाभ आठ साल बाद मिलेंगे। इससे प्रतिमाह एक कांस्टेबल को आठ साल में नौ लाख से अधिक का नुकसान झेलना पड़ रहा है। अभी  कांस्टेबल को करीब 20 हजार रुपये वेतन मिलता है। आठ साल के बाद यही दोगुना हो जाता है। कायदे से यही वेतन भर्ती के तत्काल बाद मिलना चाहिए।

Post a Comment

0 Comments

फिर शातिरों ने चली चाल एक युवक से तीन लाख की धोखाधड़ी