Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

पंचरूखी पुलिस द्वारा राजस्थान के गुमशुदा मानसिक रोगी को परिवारजनों को सौंपा

पंचरुखी, बलजीत शर्मा
शनिवार को सुबह एसएचओ पंचरूखी सुभाष शास्त्री सैर करके वापिस आ रहे थे तो सलियाणा चौक पर स्थित मन्दिर के पुजारी रामदेई ने सूचना दी कि कोई व्यक्ति देर रात मन्दिर में ठहरा था जो सुबह जाते समय मन्दिर की दरी को भी अपने साथ ले गया है । इस सूचना पर एसएचओ सुभाष शास्त्री जव रेलवे स्टेशन पंचरूखी पहुंचा तो वहां पर एक व्यक्ति अपने शरीर पर दरी ओढकर बैंच पर वैठा हुआ पाया । जिस व्यक्ति से पूछताछ की गई और दरी के वारे में पूछा तो उस उक्त व्यक्ति ने वतलाया कि इसे ठण्ड़ लग रही थी व मन्दिर से उठाकर लाया है ।
जिसका नाम व पता पूछा तो अपना नाम व पता कभी राजस्थान कभी हरियाणा तथा कभी दिल्ली वतलाने लगा । जिससे ऐसा प्रतीत हुआ कि व्यक्ति मानसिक तौर पर परेशान है । जिसे सलियाणा चौक मन्दिर में लाकर पुजारी रामदेई से दरी के वारे में पूछा जिसने मन्दिर की दरी को शिनाख्त किया । जो दरी पुजारी के हवाले करके उक्त शख्स को थाना पंचरूखी में लाकर जिसे थाना मे स्नान करवाकर, नये कपडे पहनाकर बैरक में रखा ।
जो शांतप्रिय माहौल में विश्वास में लेकर इसका नाम व पता पूछा जिसने अपना नाम शुभम पुत्र राम सरण निवासी जिला जयपुर वतलाया और जयपुर में विभन्न थानों से सम्पर्क करके परिवारजनों के साथ सम्पर्क किया । जो शुभम के भाई पवन कुमार ने वतलाया कि इसका छोटा भाई शुभम मानसिक रूप से ग्रस्त है । जो शुभम के भाई पवन कुमार के आग्रह पर रात को शुभम के रहने की व्यवस्था पुलिस द्वारा की गई । जिसके रखरखाव व सुरक्षा हेतु आ0 अशोक कुमार न0 478 को नियुक्त किया गया । जो रविवार को शुभम के भाई पवन कुमार अपने अन्य साथियों सहित थाना पंचरूखी पहुंचा जिसने वतलाया कि इसका भाई पिछले 10 दिनों से घर से लापता था । जिस कारण परिवार के सभी सदस्य परेशान थे । पुलिस थाना पंचरूखी के इस मानवीय कार्य का पता चलने पर परिवार से सदस्यों तथा स्थानीय लोगों ने पुलिस का धन्यवाद व प्रोत्साहन किया । 


Post a Comment

0 Comments

फिर शातिरों ने चली चाल एक युवक से तीन लाख की धोखाधड़ी