Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

शिमला में केक काट कर मनाई डॉ भीमराव अंबेडकर की जयंती

                    चौड़ा मैदान में सीएम सुखविंदर सिंह ने पुष्प अर्पित कर उनके योगदान को किया याद

शिमला,रिपोर्ट नीरज डोगरा 

संविधान निर्माता डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की आज जयंती है उनकी जयंती पर देश भर में उन्हें याद किया जा रहा है। हिमाचल में भी जगह-जगह कार्यक्रमों का आयोजन कर उनके योगदान को याद किया जा रहा है। राजधानी शिमला के चौड़ा मैदान स्थित आंबेडकर चौक पर भी संविधान के निर्माता डॉ. भीम राव आंबेडकर की जयंती मनाई गई । जहा मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह ,शिक्षा मंत्री रोहित ठाकुर लोकनिर्माण मंत्री विक्रमादित्य सिंह ने उनकी प्रतिमा पर फूल-माला अर्पित कर उनके योगदान को याद किया। इस मौके पर पूर्व महापौर सोहन लाल, कांग्रेस अनुसूचित जाति विभाग के अध्यक्ष अमित नंदा सहित अन्य लोगो ने भी पुष्प अर्पित किए।इस दौरान केक काटकर भी उनकी जयंती मनाई गई। 

इस मौके पर मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने संविधान की संरचना करने वाले बाबा भीमराव अंबेडकर की जयंती पर सभी प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि जब देश आजाद हुआ तो संविधान सभा बनाई गई और बाबा भीमराव अंबेडकर को उसका अध्यक्ष बनाया गया। उन्होंने अपने अनुभवों को महसूस करते हुए पाया कि समाज को एक दृष्टिकोण से देखा जाना चाहिए ओर उन्होंने सविधान बनाया। उन्होंने कहा कि एक समय ऐसा था जब बाबा भीमराव अंबेडकर मुंबई के कॉलेज में दाखिला लेने गए थे तो उन्हें मना कर दिया और उन्होंने अपने अनुभवों और एक सम्मान की नीति को देखते हुए देश का संविधान बनाया और आज लगता है कि उनकी एक सम्मान की जो नीति थी वह कारगार सिद्ध हुई है वहीं उन्होंने वैशाखी पर भी हिमाचल के लोगों को बधाई दी। 

लोक निर्माण विभाग के मंत्री विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि आज भीमराव अंबेडकर की जयंती है यह सब के लिए गर्व का पाल है । संविधान को बनाने में भीमराव अंबेडकर का बहुत बड़ा योगदान रहा है उसके मूल्य पर आज मजबूती के साथ देश आगे बढ़ रहा है। उनके दिखाए हुए रास्ते पर चलना यह सभी की नैतिक जिम्मेवारी है। आज इस तरह से लोकतंत्र पर प्रहार किया जा रहा है ऐसे में मजबूती के साथ उनके दिखाए रास्ते पर चलने की आवश्यकता है आज का जो दलित समाज है उसकी आवाज को उठाना और उसके उत्थान के लिए कार्य करना भी सरकार की जिम्मेवारी है हमेशा इस समाज की आवाज को प्रमुखता और मजबूती से उठाते रहेंगे।



Post a Comment

0 Comments

अब शिंकुला दर्रा होकर पदुम चलेगी निगम की बस