Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

शिमला पूर्व महापौर का आरोप, कांग्रेस ने उनके खिलाफ रची साजिश

                                            बेटे को जान से मारने की कोशिश, गाड़ी में कांग्रेस ने रखी थी शराब

शिमला,रिपोर्ट नीरज डोगरा 

30 अप्रैल को नगर निगम शिमला का प्रचार थमते ही शहर की राजनीति गरमा गई। देर रात संजौली के चलौंठी इलाके में एक गाड़ी से शराब बरामदगी के आरोप लगे। यह गाड़ी किसी और की नहीं बल्कि शिमला की पूर्व महापौर सत्या कौंडल के नाम पर रजिस्टर्ड थी। इस गाड़ी को खुद उनके बेटे चला रहे थे। मौके पर मौजूद यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि पूर्व मेयर के बेटे चुनाव प्रभावित करने के लिए शराब बांट रहे हैं। कई देर तक हंगामा हुआ,मौके पर पहुंचे पुलिस जवानों ने मामला शांत करवाया और फिर वह पूर्व मेयर के बेटे को थाने ले गए। 

पूर्व महापौर के बेटे तरुण का कहना है कि उनके खिलाफ साजिश रची गई है। उन्होंने कहा कि वे जब अपनी चचेरी बहन को छोड़कर वापस घर की तरफ आ रहे थे, तभी अचानक कुछ लोगों ने रास्ते में उनकी गाड़ी रोकी और उनके साथ मारपीट शुरू कर दी। इसके बाद जबरन उनकी गाड़ी में एक पैकेट रखा गया. बाद में उन्हें पता चला कि इस पैकेट में शराब की चार बोतलें हैं। उन्होंने कहा कि उनका इन शराब की बोतल से कोई लेना-देना नहीं है। कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने जानबूझकर या शराब की बोतलें रखी, ताकि उन पर आचार संहिता के उल्लंघन के आरोप लगाए जा सके।


 इस मामले में पूर्व महापौर सत्या कौंडल का कहना है कि उनके बेटे के खिलाफ साजिश रची गई। पूर्व मेयर ने आरोप लगाया कि उनकी बेटे पर जानलेवा हमला किया गया। इस दौरान वे फूट-फूटकर रोती हुई भी नजर आई। उन्होंने मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू से इंसाफ देने की गुहार लगाई है। सत्या कौंडल ने कहा कि उनके बेटे का राजनीति से दूर-दूर तक कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने लगातार अपने इलाके में रहते हुए शिमला शहर के विकास के लिए काम किया है।ऐसे में वे नहीं जानतीं कि उनके बेटे के साथ यह सब क्यों किया जा रहा है। 


Post a Comment

0 Comments

जिला कुल्लू में नशा कर पछताईं वायरल वीडियो वाली लड़कियां