Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

कोटला के साथ लगती बलाह की पहाड़ी पर लगभग दो किलोमीटर दायरे भारी भूस्खलन

                                                 बलाह में दो किमी के दायरे में भूस्खलन

काँगड़ा,रिपोर्ट नेहा धीमान 

उपमंडल जवाली के अंतर्गत कोटला के साथ लगती बलाह की पहाड़ी पर लगभग दो किलोमीटर दायरे भारी भूस्खलन हो गया। भूस्खलन के बाद पानी के साथ भारी मात्रा में मलबा आने से कोटला के कई घरों में कीचड़ भरा गया है। एकदम आए पानी के सैलाब को देखकर लोग अपने बच्चों के साथ बदहवास होकर अपने घरों को छोड़कर बाहर आ गए।

अचानक आई आपदा से केवल, बुद्धि सिंह, मुनीश, रविंद्र, कुलदीप, राकेश कुमार, मधूसुदन, विनय, रवि कुमार, कृष्ण शर्मा और राम कुमार आदि के घर कई-कई फीट तक कीचड़ में धंस गए। इन घरों की पक्की दीवारों को तोड़कर मलबा अंदर घुस गया है। इसके साथ ही बाबा लाडू नाथ सनातन धर्म आश्रम पूरी तरह तहस-नहस हो गया है। आश्रम में स्थापित गुफा, कुटिया एवं शिव मंदिर को भी खतरा पैदा हो गया है। कोटला की सारी गालियों में कीचड़ और दलदल भर गया। लोगों ने अपने घरों को खाली कर पंचायत घर, सामुदायिक भवन में शरण ली हुई है।

एसडीएम जवाली महिंद्र प्रताप सिंह ने क्षेत्र का दौरा किया। उन्होंने कहा कि कोटला के पांच से सात घरों को भारी नुकसान हुआ है। गांव के लगभग 30 घरों को असुरक्षित कर दिया गया है। लोगों के खान-पान की व्यवस्था सामुदायिक भवन कोटला में की गई है। कोटला को जोड़ने वाले संपर्क मार्ग बिल्कुल ही ध्वस्त हो गए हैं। कोटला ढ़ाबा से लेकर शनिदेव मंदिर तक लगभग दो किलोमीटर की बलाह गांव की पहाड़ी दरकने से पूरा कोटला शहर खतरे की जद में है।




Post a Comment

0 Comments

सतलुज दरिया के तेज बहाव में एक बच्ची हुई दुर्घटना की शिकार