Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

प्रदेश के राशन डिपुओं में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत मिलने वाली दालों की आपूर्ति सामान्य नहीं

                                              हिमाचल के राशन डिपुओं से दालें गायब

नाहन,ब्यूरो रिपोर्ट 

प्रदेश के राशन डिपुओं में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत मिलने वाली दालों की आपूर्ति सामान्य नहीं हो पाई है। कई डिपुओं में पिछले दो माह से ही दालों की किल्लत है।हिमाचल प्रदेश के राशन डिपुओं में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत मिलने वाली दालों की आपूर्ति सामान्य नहीं हो पाई है। कई डिपुओं में पिछले दो माह से ही दालों की किल्लत है। इस माह भी अब तक दालें नहीं पहुंची हैं, जबकि महीना आधा बीत चुका है।अभी स्थिति यह है कि कई जगह इक्का-दुक्का दालें मिल भी रही हैं। अब तक प्रदेश में 32,000 क्विंटल दालों की आपूर्ति हो सकी है। 22,000 क्विंटल आपूर्ति बाकी है। राज्य खाद्य आपूर्ति निगम ने इस माह के लिए 54,000 क्विटंल दालों की आपूर्ति की मांग की है।

बताया जा रहा है कि पिछले माह दालों के टेंडर देरी के चलते आपूर्ति समय पर नहीं हो पा रही है। निगम का कहना है कि 25 सितंबर तक डिपुओं में दालों की सप्लाई सामान्य हो जाएगी। बता दें कि सूबे में साढ़े 19 लाख राशन कार्ड धारक हैं। इनमें 12 लाख परिवार बीपीएल, अंत्योदय और एनएफएसए से संबंध रखते हैं। जबकि सात लाख परिवार एपीएल की श्रेणी में आते हैं।

अभी राशन कार्ड धारकों को डिपुओं से उड़द, मलका और चने की दाल मिल रही है। दालों का संकट अगस्त से चल रहा है। हालांकि सरकार ने बैकलॉग देने की बात भी कही, लेकिन इस माह का कोटा भी अब तक कई परिवारों को नहीं मिल सका है।राज्य खाद्य आपूर्ति निगम के निदेशक रामकुमार गौतम ने बताया कि सूबे में दालों की सप्लाई शुरू हो गई है। 25 सितंबर तक प्रदेश के सभी डिपुओं में आपूर्ति हो जाएगी। प्रदेश में 54,000 क्विंटल दालों की सप्लाई में से 32,000 क्विंटल की आपूर्ति हो चुकी है।





Post a Comment

0 Comments

भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष करेंगे प्रदेश भर में तीन चुनावी रैलियां