Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला औहर में आज सात दिवसीय एनएसएस कैंप का दूसरा दिन

      इस डिजिटल युग में यह चिंता का विषय है कि हमारे देश में साइबर अपराध खतरनाक दर से बढ़ रहे हैं

पालमपुर,रिपोर्ट नवीन शर्मा 

राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला औहर में आज सात दिवसीय एनएसएस कैंप का दूसरा दिन रहा। स्वयंसेवियों ने दूसरे दिन की शुरुआत योग और व्यायाम से की। दूसरे दिन रिसोर्स पर्सन के रूप में शिक्षा के क्षेत्र से जुड़े अब्दुल मजीद, प्रवक्ता कंप्यूटर साइंस ने शिरकत की। कार्यक्रम अधिकारी सुनील कुमार व  जीवन लता ने उन्हें स्मृति चिह्न दे की सम्मानित किया। इसके उपरांत अब्दुल मजीद ने स्वयंसेवियों को साइबर क्राइम और साइबर सिक्योरिटी से जुड़ी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इस डिजिटल युग में यह चिंता का विषय है कि हमारे देश में साइबर अपराध खतरनाक दर से बढ़ रहे हैं। तेजी से डिजिटल हो रही दुनिया के लिए आज के समय में सबसे बड़ी समस्या हैकर्स, स्कैमर्स और फ्रॉड्स से बचना है।

ऑनलाइन फ्रॉड, या साइबर फ्रॉड के केस आए दिन सुनने को मिलते हैं जैसे नौकरी का झांसा देकर पैसे मांगना, व्हाट्सएप, फेसबुक, फोन कॉल, कई साइटों के माध्यम से लॉटरी जीतना या नकली ग्राहक सेवा अधिकारी बता कर लोगों को लुटा जाता है। लोगों को भनक भी नहीं पड़ती और उनके साथ फ्रॉड हो जाता है। साइबर अपराधी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर आकर्षक प्रोफाइल बनाकर और पीड़ितों को वीडियो चैट पर आने का लालच देकर सेक्सटॉर्शन के माध्यम से भी पीड़ितों को धोखा दे देते हैं, जहां वे समझौता करने वाली स्थिति में पीड़ितों की स्क्रीन रिकॉर्डिंग करते हैं और फिर उनसे भारी रकम वसूलते हैं। आरोपी ज्यादातर नौकरी चाहने वालों, वरिष्ठ नागरिकों और छात्रों को निशाना बनाते हैं, वे ओएलएक्‍स पर आकर्षक ऑफर भी देते हैं। ये सभी अपराध और धोखाधड़ी कई सोशल साइट्स और सोशल मीडिया की उपयोगिता की उचित जानकारी न होने के कारण हो रहे हैं। ऑनलाइन धोखाधड़ी होने पर तत्काल हेल्पलाइन नंबर 1930, 55260 पर कॉल करें। तत्पश्चात साइबर सेल को सूचना जरूर दें। साइबर अपराध से बचने के लिए युवाओं को स्वयं जागरूक होकर दूसरों को भी जागरूक करना होगा। अंत में उन्होंने कहा कि वास्तविक दुनिया में उत्पन्न खतरे से पुलिस आपकी सुरक्षा कर सकती है किन्तु साइबर स्पेश में हो रहे साइबर अपराध से बचाव की कुंजी आपकी जागरूकता है। इसके लिये हमेशा सतर्क एवं जागरूक रहें। इस मौके पर एन एस एस अधकारी सुनील कुमार, जीवन लता और शारीरिक शिक्षक प्रेम लाल, कुलदीप सिंह के साथ साथ सभी अध्यापक और प्राध्यापक उपस्थित रहे।




Post a Comment

0 Comments

आखिर क्यों राशन डिपुओं से हुई चीनी गायब