Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

जिला मंडी के कांग्रेस नेता और पूर्व विधायक के भतीजे ने दिखाए एक साल में अमीर होने के सपने

                           क्रिप्टो करेंसी के नाम पर निवेश कर एक साल में अमीर होने के सपने दिखाए

मंडी,रिपोर्ट संगीता मंडयाल 

हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले के एक कांग्रेस नेता और पूर्व विधायक के भतीजे ने भी अपने रिश्तेदारों व इलाके के लोगों को क्रिप्टो करेंसी के नाम पर निवेश कर एक साल में अमीर होने के सपने दिखाए। पूर्व विधायक का भतीजा होने पर रिश्तेदारों व अन्य लोगों ने भी भरोसा जताकर निवेश के लिए धनराशि उसके हाथों में थमा दी। अब धनराशि वापस न मिलने पर ठगी के शिकार लोगों ने मंडी साइबर पुलिस थाना में शिकायत दर्ज करवाई है। 

शिकायतकर्ताओं का कहना है कि समाज में प्रतिष्ठित होने पर उन्होंने विश्वास जताकर अपनी जमापूंजी से धनराशि व्यक्ति के हाथों में दे दी। करीब पांच लाख रुपये की धनराशि क्रिप्टो करेंसी के नाम पर निवेश कर दी, लेकिन इसकी एवज में उन्हें कुछ नहीं मिल पाया है।उन्होंने अपने नाम के अलावा बेटे के नाम आईडी बनवाकर धनराशि को निवेश करवाया था। उनके कुछ परिचितों ने भी इसी खेल में अपनी धनराशि जमा करवाई थी। सूत्र बताते हैं कि हाल ही में हुई पुलिस ने उक्त व्यक्ति के घर में दबिश दी और दस्तावेज व उपकरण जब्त किए गए। उधर, एसआईटी समेत साइबर पुलिस इस बात की भी जांच कर रही है कि ठगी की रकम शातिरों ने कहां डाली या निवेश की। इसे लेकर आरोपियों से पूछताछ भी चल रही है, जबकि तकनीकी तौर पर भी जांच चल रही है। मंडी साइबर सेल के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनमोहन सिंह ने बताया कि रोजाना नई शिकायतें मिल रही हैं। मामले में नियमानुसार बयान कलमबद्ध किए जा रहे हैं। सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए जांच की जा रही है।

देहरा के विधायक होशियार सिंह के क्रिप्टो करेंसी के नाम पर ठगी की शिकायत को लेकर दिए गए बयान ने पीड़ितों में खलबली मचा दी है। बुधवार को अन्य दिनों के अपेक्षा मंडी साइबर पुलिस थाना में अधिक संख्या में शिकायतकर्ता पहुंचे। इसके अलावा फोन पर भी कई लोगों ने क्रिप्टो करेंसी के नाम पर हुई ठगी को लेकर शिकायत करने की प्रक्रिया पूछी। दिनभर एएसपी समेत थाना में फोन पर फोन बजते रहे। बता दें कि होशियार सिंह ने मंडी में मीडियाकर्मियों से अनौपचारिक बातचीत में कहा था कि क्रिप्टो करेंसी ठगी मामले में केवल उसी निवेशक का पैसा वापस होगा, जोठगी की शिकायत संबंधित थाना में दर्ज करवाएगा। शिकायत दर्ज न करवाने पर यह पैसा सीधे सरकार के खजाने में चला जाएगा।





Post a Comment

0 Comments

सतलुज दरिया के तेज बहाव में एक बच्ची हुई दुर्घटना की शिकार