Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

निगम क्षेत्र के लिये बनाये मास्टर प्लान : सभापति

                                  स्थानीय निधि लेखा समिति ने पालमपुर में ऑडिट पैंरों की समीक्षा

पालमपुर,रिपोर्ट नेहा धीमान 

हिमाचल प्रदेश विधान सभा की स्थानीय निधि लेखा समिति के सभापति इंद्रदत्त लखनपाल ने कहा कि सरकार के अधीन मंदिरों की पूरी जमीन की पहचान कर मास्टर प्लान तैयार कर भविष्य की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए निर्माण एवं अन्य कार्य को आगे बढ़ाया जाये। इंद्रदत्त लखनपाल ने कहा कि  पालमपुर नईं निगम बनीं और समय के साथ साथ इसमें विस्तार होगा। उन्होंने निगम अधिकारियों को निगम के पूरे क्षेत्र के लिये मास्टर प्लान बनाने के निर्देश दिये, ताकि समय के साथ होने वाला विकास व्यवस्थित तरीके से हो और निगम क्षेत्र की सुंदरता बनीं रहे। हिमाचल प्रदेश विधान सभा की स्थानीय निधि लेखा समिति के सभापति इंद्रदत्त लखनपाल  राज्य लेखा परीक्षा विभाग द्वारानगर निगम पालमपुर, चौधरी सरवन कुमार कृषि विश्वविद्यालय, महाकाल मंदिर, शिव मंदिर बैजनाथ और चामुंडा मन्दिर न्यासों के ऑडिट पैरों की समीक्षा को लेकर संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक की।

बैठक में समिति के सदस्य  विधायक सतपाल सत्ती, विधायक होशियार सिंह, विधायक डीएस ठाकुर, विधायक केवल सिंह पठानिया, विधायक पूर्ण चन्द ठाकुर,  विधायक कुलदीप राठौर और विधायक हरीश जनारथा उपस्थित रहे। सभी सदस्यों ने ऑडिट पैंरों पर विभागों से सवाल जवाब एवं ब्योरा लेने के साथ साथ विकास कार्यों को गति देने को लेकर अपने बहुमूल्य सुझाव दिए।  बैठक में समिति ने विभागों और संस्थानों से ऑडिट पैंरों का मदवार विस्तृत ब्योरा लिया और अधिकारियों को लंबित पैरों का शीघ्र निराकरण करने के निर्देश दिए। सभापति ने कहा कि प्रदेश इस वर्ष भयंकर प्राकृतिक आपदा के दौर से गुजरा है और इससे प्रदेश को भारी जान-माल का नुकसान भी पहुंचा है। उन्होंने कहा कि वर्तमान परिस्थितियों को  देखते हुए निगम क्षेत्र में भी किसी निर्माण से पूर्व स्ट्रक्चर डिज़ाइन, क्षेत्र की जूलॉजिकल रिपोर्ट, भूमि की स्थिति को गंभीरता से देखने के निर्देश दिए।  उन्होंने शहर में पार्किंग और गार्बेज डिस्पोजल व्यवस्था तथा ड्रेनेज सिस्टम को दुरस्त करने पर  विशेष ध्यान देने की बात कही।

 उन्होंने निगम को अपनी आमदनी के साधन बढ़ाने तथा किराया और कर वसूली के मामलों में आवश्यक कार्रवाई करने को कहा।  उन्होंने  समिति ने  अनुमोदन पर नगर निगम पालमपुर से पिछले वर्षों में पास हुए  नक्शों की जांच विजिलेंस से करवाने की बात कही।समिति ने चौधरी सरवन कुमार कृषि विश्वविद्यालय पालमपुर के बैठक में सक्षम अधिकारी के अनुपस्थिति रहने और समिति द्वारा मांगी जानकारी पूर्ण नहीं होने को गंभीरता से लिया और सारा रिकॉर्ड समिति के समुख शिमला में प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। समिति ने विश्विद्यालय को 3 वर्षों का ऑडिट भी शीघ्र करवाने को कहा। समिति ने विश्वविद्यालय में डेढ़ करोड़ से गेट बनाने के मामले पर नगर निगम पालमपुर से अनुमोदन तथा मुख्य सड़क मार्ग पर बन रहे इस गेट के लिये लोक निर्माण विभाग की औपचारिकताओं को पूर्ण करने के दस्तावेज समिति के समुख प्रस्तुत करने के निर्देश दिये।

समिति ने उपस्थित अधिकारियों को सरकार के दिशा-निर्देश के अनुरूप सरकारी धनराशि को 60 -40 के अनुपात में राष्ट्रीयकृत बैंकों में रखने के आदेशों की अनुपालन के निर्देश दिये।इससे पहले समिति सदस्यों ने चौधरी सरवन कुमार कृषि विश्वविद्यालय पालमपुर में हाइड्रोपोनिक यूनिट, डॉक्टर जीसी नेगी पशु विज्ञान महाविद्यालय, इनफेक्शियस डिजीज यूनिट, कृषि उत्पाद एवं दूध सयंत्र तथा पालमपुर विज्ञान केंद्र का  दौरा किया और इनकी विस्तार से जानकारी हासिल की। समिति सदस्यों ने बैजनाथ के ऐतिहासिक शिव मंदिर और महाकाल मंदिर और नंदिकेश्वर धाम चामुंडा देवी मन्दिर का भी निरीक्षण किया।





Post a Comment

0 Comments

दो दिन के लिए भारी बारिश का अलर्ट