Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

22 जनवरी को राम जन्म भूमि आन्दोलन के दौरान जेलों में बन्द रहे कार सेवकों को भी विशेष निमंत्रण दिया जाए :प्रवीन कुमार

 22 जनवरी को राम जन्म भूमि आन्दोलन के दौरान जेलों में बन्द रहे कार सेवकों को भी विशेष निमंत्रण दिया जाए :प्रवीन कुमार

पालमपुर,रिपोर्ट प्रवीण शर्मा 

श्री राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ( न्यास ) से आग्रह , 22 जनवरी को राम जन्म भूमि आन्दोलन के दौरान जेलों में बन्द रहे कार सेवकों को भी विशेष निमंत्रण दिया जाए :-  प्रवीन कुमार पूर्व विधायक...... राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास द्वारा सभी राम भक्तों के नाम सार्वजनिक पत्र जिसमें आग्रह किया गया है कि आगामी पोष शुक्ल द्वादशी , विक्रम संवत 2080 सोमवार दिनांक 22 जनवरी 2024 के शुभ दिन श्री राम के बाल रुप नूतन विग्रह को श्री राम जन्म भूमि पर बन रहे नवीन मन्दिर भूतल के गर्भगृह में विराजित करके प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी । पत्र में सभी से प्राण प्रतिष्ठा के दिन पूर्वाहन 11 बजे से 01 बजे के मध्य अपने अपने ग्राम , मोहल्ले ,कालोनी में स्थित मन्दिर में आस- पड़ोस के राम भक्तों को एकत्रित करके भजन कीर्तन , प्रभु राम का 108 बार सामूहिक जाप , हनुमान चालीसा ,सुंदर काण्ड , राम रक्षा स्तोत्र का पाठ करने व टेलीविजन या एल ई डी स्क्रीन लगातार अयोध्या के प्राण प्रतिष्ठा समारोह को समाज को दिखाने तथा शंखध्वनि , घंटानाद आरती करके प्रसाद वितरण व सांय अपने अपने घरों के सामने देवताओं की प्रसन्नता के लिए दीपक जलाने एवं दीपमालायें सजाने के लिए कहा गया है।

इस पत्र पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए समाज सेवा में समर्पित इन्साफ संस्था के अध्यक्ष एवं पालमपुर के पूर्व विधायक प्रवीन कुमार ने श्री राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र के आयोजकों का ध्यान उन राम भक्त रुपी कार सेवकों की ओर भी दिलाते हुए कहा है  जिन्होंने कि नब्बे के दशक में सिर पर कफन बांधकर लाठियां खाईं , सिर फडवाये , गिरफ्तार हुए , जेलों की रोटियां , खाई अन्ततोगत्वा जेलों से भाग कर ऐसे तैसे मीलों पैदल चलकर अयोध्या पहुँचे थे । ऐसे जेलों की हवा खाने वाले कार सेवकों जिनके कि विरुद्ध विभिन्न थानों मे  "राम मन्दिर निर्माण संकल्प" के जुर्म में बतौर अपराधी मामले दर्ज हुए थे। उन सभी राम भक्तों को इस समारोह में जरुर आमंत्रित किया जाए । पूर्व विधायक ने तर्क देते हुए कहा जब श्री राम जन्म भूमि आन्दोलन को लेकर अयोध्या में निहत्थे कार सेवकों के ऊपर उस वक्त की राम विरोधी सरकार ने गोलियाँ बरसाई , इस गोली काण्ड में मारे गये कार सेवकों के शवों को जिस तरह सरयू नदी में फैंका जा रहा था ऐसे मोके पर अयोध्या में राम मन्दिर निर्माण का संकल्प लेकर उस आन्दोलन में पालमपुर से भी हम 10 कार सेवकों ने सिर पर कफन बांध कर तत्कालीन विधायक डाक्टर शिव कुमार जी की अगुवाई में अयोध्या के लिए कूच किया था । उस बक्त अयोध्या जाते हमें बीच रास्ते सहारनपुर में गिरफ्तार कर लिया। इस तरह एक सप्ताह तक जेल में कैद रहने के पश्चात हम सभी ने ऐसे तैसे अयोध्या पहुँच कर हम सभी ने कार सेवा में भाग लिया था ।





Post a Comment

0 Comments

4 मार्च से ऊना-हरिद्वार ट्रेन सेवा शुरू होगी