Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

स्मार्ट सिटी धर्मशाला में बनने वाले पहला स्मार्ट रोड अब लोगों के लिए जी का जंजाल बन गया है

                     स्मार्ट रोड के काम से सिकुड़ी सड़क, डेढ़ माह से डरा रही नालियों के लिए की खोदाई

काँगड़ा,रिपोर्ट नेहा धीमान 

स्मार्ट सिटी धर्मशाला में बनने वाले पहला स्मार्ट रोड अब लोगों के लिए जी का जंजाल बन गया है। कोतवाली स्थित पेट्रोल पंप के बाहर विश्व कप के मैचों के पहले नाली की खोदाई को आज दिन तक वैसे ही किसी बड़े हादसे के लिए खुला रखा गया है। करीब डेढ़ माह बाद भी पेट्रोल पंप के बाहर खोदाई का मलबा सड़क पर पड़ा है।इस वजह से सड़क संकरी भी हो गई हैं और हादसों का खतरा भी बढ़ गया है, लेकिन इस लापरवाही पर स्मार्ट सिटी प्रबंधन की ओर से कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। अधिकारी किसी बड़े हादसे का ही इंतजार कर रहे हैं। बता दें कि कोतवाली स्थित पेट्रोल पंप के साथ करीब तीन फीट से अधिक गहरी नाली की ठेकेदार की ओर से खोदाई की गई है, जहां आज दिन तक स्मार्ट रोड की ट्रेंच नहीं बनाई गई है।

जानकारी के अनुसार 18.09 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले पहले स्मार्ट रोड का टेंडर अक्तूबर, 2020 में ठेकेदार को अवार्ड कर दिया था और 10 मार्च. 2021 को तत्कालीन मुख्यमंत्री ने इसका शिलान्यास किया था। साथ ही काम को पूरा करने के लिए जनवरी, 2022 तक का समय रखा गया था, लेकिन समय पर काम 20 फीसदी भी पूरा नहीं हो पाया था। इस वजह से संबंधित ठेकेदार को नोटिस भी जारी किया था। इसके बावजूद ठेकेदार ने समय पर कार्य पूरा नहीं किया। इसके बाद स्मार्ट सिटी प्रबंधन ने पुराने ठेकेदार का टेंडर रद्द कर दिया था। इसके बाद दोबारा काम पूरा करने के लिए नए ठेकेदार को 14.13 करोड़ रुपये टेंडर अवार्ड किया गया है। वहीं ठेकेदार को एक साल के भीतर कार्य को पूरा करने के निर्देश दिए गए हैं।

फिलहाल जोनल अस्पताल धर्मशाला के बाहर और एसपी ऑफिस के बाहर तेजी से काम चल रहा है, लेकिन पेट्रोल पंप के बाहर करीब डेढ़ माह से मलबे को वैसे ही छोड़ दिया गया है। इससे किसी भी समय कोई हादसा हो सकता है। स्थानीय लोगों ने स्मार्ट सिटी प्रबंधन से वहां पर काम को जल्द पूरा करने की मांग की हैस्मार्ट सिटी धर्मशाला के एसडीओ केवल शर्मा का कहना है कि विश्व कप मैचों से पहले वहां ट्रेच बनाने के लिए नाली की खोदाई की गई थी, लेकिन वहां पर आर्मी एरिया को पानी वाली पेयजल सप्लाई के कारण काम बंद करना पड़ा है। पाइप को वहां से शिफ्ट करने के लिए जल शक्ति विभाग को कहा गया है, तीन-चार दिनों में अनुमति मिलने के बाद वहां से पाइप को शिफ्ट कर काम को वहां पर शुरू कर दिया जाएगा।





Post a Comment

0 Comments

आखिर क्यों राशन डिपुओं से हुई चीनी गायब