Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

सीएम सुक्खू के दुबई से लौटने के बाद मंत्रियों में बाटेंगे विभाग

                                                    वहीं कई के पोर्टफोलियो बदलने की संभावना है

शिमला,ब्यूरो रिपोर्ट 

मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू के दुबई लौटने के बाद ही नए बने दो मंत्रियों को विभाग बंटेंगे, वहीं कई के पोर्टफोलियो बदलने की संभावना है। जयसिंहपुर के विधायक यादवेंद्र गोमा और घुमारवीं के विधायक राजेश धर्माणी को मंत्री पद की शपथ दिला दी गई है। मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू बार-बार कई मंत्रियों को अपनी परफारमेंस सुधारने की बात करते रहते हैं। विभागों में क्या-क्या चल रहा है, मुख्यमंत्री स्वयं हर सोमवार को सभी विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक करते हैं।

अगर किसी कारणवश सोमवार को बैठक नहीं होती है तो अगले दिन अधिकारियों को बैठक के लिए बुलाया जाता है। इसमें नई-नई योजनाओं को लेकर विचारों का आदान-प्रदान किया जाता है। सूत्र बताते हैं कि मुख्यमंत्री सुक्खू कई मंत्रियों के कार्यों से संतुष्ट नहीं है। ऐसे में इनके विभाग बदलकर किसी दूसरे मंत्री को दिए जाने हैं। कार्य में दिलचस्पी न लेने वाले कई मंत्रियों को छोटे महकमे देने का मामला भी सरकार के विचाराधीन है। हालांकि मुख्यमंत्री के दुबई से लौटने के बाद ही इस पर फैसला लिया जाना है।हिमाचल प्रदेश में निवेश का न्योता देने मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू बुधवार को दुबई रवाना होंगे। 13 से 16 दिसंबर तक यूएई में आयोजित हो रही इन्वेस्टर मीट में मुख्यमंत्री शिरकत करेंगे। 

इस दौरे में मुख्यमंत्री के साथ सरकार के आला अधिकारी भी रहेंगे। दो माह पहले यूएई के हिमाचली कारोबारियों के साथ वर्चुअल मीटिंग में भी प्रदेश में निवेश का न्योता दिया था। दुबई की प्रतिष्ठित कंपनी औजन ग्रुप होल्डिंग (एजीएच) प्रदेश में फाइव स्टार होटल स्थापित करने में रुचि दिखा चुकी है। सरकार को इस दौरे से 6,000 करोड़ के निवेश की उम्मीद है। मुख्यमंत्री सुक्खू 2027 तक प्रदेश को देश का सबसे अमीर राज्य बनाने और प्रदेश में निवेश के लिए उद्योगपतियों की हरसंभव मदद करने की बात कई मंचों पर कह चुके हैं।

इसी कड़ी में दुनिया के सबसे समृद्ध देशों में से एक यूएई से बड़ा औद्योगिक निवेश लाने की कोशिश है। दुबई दुनिया के अन्य देशों में औद्योगिक निवेश का इच्छुक है। हिमाचल प्रदेश में ऊर्जा और पर्यटन क्षेत्र में बड़ा निवेश कर सकता है। प्रदेश सरकार ने पर्यटन क्षेत्र में निवेशकों के लिए धारा-118 में भी विशेष प्रावधान किए हैं। मुख्यमंत्री 17 दिसंबर को दुबई से लौटेंगे और 19 दिसंबर से धर्मशाला में विधानसभा के शीत सत्र में शामिल होंगे। दुबई जाने वाले सात सदस्यीय दल में मुख्यमंत्री के अलावा पर्यटन विकास निगम के उपाध्यक्ष आरएस बाली, मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार सुनील शर्मा, प्रधान सचिव भरत खेड़ा, पर्यटन विभाग की निदेशक मानसी सहाय ठाकुर, परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक रोहन चंद ठाकुर और विवेक भाटिया शामिल हैं।


Post a Comment

0 Comments

सात एचपीएस अधिकारियो को पुलिस अधीक्षक का रूप मे नियुक्ति