Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

आदि हिमानी चामुंडा मंदिर के मार्ग पर स्थापित सोलर लाइटों को क्षतिग्रस्त करने पर भड़की कांगड़ा भाजपा

                                          लाइटें क्षतिग्रस्त करने पर भाजपा ने उपायुक्त से की शिकायत

काँगड़ा,रिपोर्ट नेहा धीमान 

आदि हिमानी चामुंडा मंदिर के मार्ग पर स्थापित सोलर लाइटों को क्षतिग्रस्त करने पर कांगड़ा भाजपा भड़क उठी है। भाजपा जिला अध्यक्ष सचिन शर्मा, प्रदेश प्रवक्ता संजय शर्मा, सह मीडिया प्रभारी विश्वचक्षु और धर्मशाला से भाजपा प्रत्याशी रहे राकेश चौधरी समेत अन्य कार्यकर्ताओं ने सोमवार को उपायुक्त कांगड़ा डॉ. निपुण जिंदल को एक ज्ञापन सौंपा।

भाजपाइयों ने ज्ञापन के माध्यम से उपायुक्त से क्षतिग्रस्त की गई सोलर लाइटों को शीघ्र दुरुस्त करने की मांग की है। साथ ही जिला प्रशासन से मांग की है कि जिन भी लोगों ने इन सोलर लाइटों को क्षतिग्रस्त किया है, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाए। उन्होंने कहा कि यह मंदिर लाखों लोगों की आस्था का केंद्र है। मंदिर मार्ग पर सोलर लाइटों से पर्यावरण को किसी तरह का कोई नुकसान नहीं हुआ है। हिमाचल देवभूमि है और यहां सैकड़ों मंदिर सदियों से वन भूमि के तहत बने हैं।

गत दिवस इस मामले को लेकर कांग्रेस विधायक सुधीर शर्मा ने भी योल पुलिस चौकी में शिकायत दर्ज करवाकर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। साथ ही मुख्यमंत्री से इन लाइटों को शीघ्र बहाल करने और वन विभाग के दोषी अधिकारियों पर भी कार्रवाई की मांग की है। भाजपा महामंत्री त्रिलोक कपूर ने भी मौके पर पहुंचकर लोगों के साथ घटनास्थल का जायजा लिया था। अब इस मामले में भाजपा और कांग्रेस दोनों ओर वन विभाग पर दबाव बनाकर सोलर लाइटों को बहाल करने का प्रयास किया जा रहा है।डीएफओ धर्मशाला दिनेश शर्मा ने कहा कि सोलर लाइटों को हटाने के मामले की जांच चल रही है। एक-दो दिन में रिपोर्ट सरकार को प्रेषित कर दी जाएगी। उन्होंने कहा कि स्थानीय व्यक्ति ने एनजीटी को शिकायत की थी। एनजीटी के आदेश पर ही यह सोलर लाइटें बंद की गई हैं।

आदि हिमानी चामुंडा मंदिर रास्ते से उखाड़ीं गईं सोलर लाइटों को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार ने सख्त नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा कि आदि हिमानी मंदिर के लिए लोगों और सरकार के सहयोग से लगाई लाइटों को हटाने बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि किसने, क्यों शिकायत की और किसने कब जांच की उन्हें कुछ पता नहीं, लेकिन बिना किसी जांच के लाइटों को उखाड़ देना दुर्भाग्यपूर्ण और रहस्यमय भी है। उन्होंने कहा कि सरकार इस विषय पर जल्द उचित कार्रवाई करें। हर दिन आदि हिमानी चामुंडा मंदिर में बड़ी संख्या में भक्त जाते हैं। उनकी सुविधा को ध्यान में रख कर मंदिर के लिए अधिक सुविधाओं की व्यवस्था की जाए।



Post a Comment

0 Comments