Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

अपाहिज सीमा सूद के मामले को गंभीरता से न लेने पर पूर्व विधायक प्रवीन कुमार ने एस डी एम से मिलकर जताई नाराजगी

 बहुत इलाज करवाया , इलाज करवाते करवाते लाखों रुपए खर्च कर इसके माता -पिता भी स्वर्ग सिधार गये 

पालमपुर,रिपोर्ट नेहा धीमान 

समाज सेवा में समर्पित इन्साफ के अध्यक्ष एवं पालमपुर के पूर्व विधायक प्रवीन कुमार व सचिव धीरज ठाकुर ने एस डी एम पालमपुर से मिलकर उनका ध्यान सुगर ( आईमा ) निवासी कुमारी सीमा सूद की व्यथा के सन्दर्भ में इन्साफ संस्था द्वारा लिखे पत्र की ओर दिलाते हुए कहा कि इतना लम्बा समय हो गया आपके कार्यालय ने पत्र को न तो गंभीरता से लिया ओर न ही कृत कार्यवाही से अवगत  करवाया । पूर्व विधायक ने एस डी एम महोदया को बताया कि कुमारी सीमा सूद  जिसने बिटस पीलानी से कंप्यूटर इंजीनियरिंग में 98% अंकों के साथ पोस्ट ग्रैजुएट डिग्री गोल्ड मैडल के साथ हासिल की है। जैसे ही सीमा सूद की डिग्री खत्म हुई बदकिस्मती से इसे रूमेटाइड अर्थराइटिस नामक बीमारी ने जकड़ लिया । 

बहुत इलाज करवाया , इलाज करवाते करवाते लाखों रुपए खर्च कर इसके माता -पिता भी स्वर्ग सिधार गये । इस बीमारी के उपचार के लिए सर्जरी ही एकमात्र उपाय था जो कि बहुत महंगी थी । इस तरह मंहगे उपचार से दुखी होकर कुमारी सीमा ने महामहिम राष्ट्रपति महोदय को पत्र लिखकर इच्छा मृत्यु की अपील कर डाली । इस पत्र की प्रति सीमा सूद ने तत्कालीन मुख्यमंत्री प्रो प्रेम कुमार धूमल जी , पूर्व मुख्यमन्त्री श्री शान्ता कुमार जी व उस वक्त के बतौर विधायक उन्हे भी प्रेषित की । इस तरह तत्कालीन विधायक के नाते व श्री शान्ता कुमार जी  की दृढ़ता से अनुशंसा पर तत्कालीन मुख्यमंत्री प्रो प्रेम कुमार धूमल जी ने कहा कि सीमा सूद को मृत्यु नहीं बल्कि प्रदेश सरकर जीवन दान देगी । उन्होंने बडे स्पष्ट शब्दों में कहा बीमारी पर जितना भी खर्च होगा इस पालमपुर की होनहार बेटी पर सरकार वहन करेगी 1इस तरह प्रो प्रेम कुमार धूमल जी की सरकार ने प्राकलन के आधार पर 10 लाख मंजूर किये । परिणामस्वरूप फॉर्टिस हॉस्पिटल मोहाली द्वारा पीड़ादायक जटिल शल्य चिकित्सा से सीमा सूद बिस्तर से उठने के काबिल हुई है। लेकिन अव भी वह अपने सहारे चल नहीं सकती । सीमा सूद की दिल को दहला देने वाली घटना का ज़िक्र करते हुए पूर्व विधायक ने कहा कि यह कितनी बडी विडंबना है जो उनके साथ पढ़ते थे आज वे डेढ़ डेढ दो 2 करोड़ के पैकेज ले रहे हैं और वह इस अवस्था में अपनी बहन एवं जीजा जी के ऊपर आश्रित रोटी , इलाज व सुरक्षा के लिए मोहताज है ।

सीमा सूद का आरोप है कि उनके पड़ोसी विभिन्न मसलों में घेर कर उन्हे परेशान कर रहे हैं । झूठे इलजाम लगा रहे हैं , झूठी शिकायत दर्ज कर रहे हैं । इस एवज़ में कुमारी सीमा का कहना है जो पत्र उन्होंने नगर निगम आयुक्त महोदय की सेवा में प्रेषित किया उसके ऊपर तो कोई गोर नहीं फरमाई गई उल्टा उसके विरुद्ध शिकायत पर त्वरित कार्यवाही करते हुए नगर निगम आयुक्त महोदय द्वारा नोटिस व पुलिस वालों ने उन्हे थाने में तलब करने के आदेश जारी कर दिये । पूर्व विधायक ने एस डी एम को अवगत करवाते हुए कहा कि इस तरह के बर्ताव से आहत होकर ही कुमारी सीमा ने समाज सेवा में समर्पित इन्साफ संस्था के नाम पत्र लिखकर इन्साफ की गुहार लगाई है । ऐसे में पत्र में वर्णित तथ्यों के आधार पर संस्था मान्यवर उप मण्डल अधिकारी ( नागरिक ) से पुनः सादर अनुरोध करती है कि नगर निगम आयुक्त व थाना प्रभारी पालमपुर को साथ लेकर चाहे वह समस्या सीमा की है या पड़ोसियों की मौका पर उसका समाधान करने की कृपा की जाए साथ ही कुमारी सीमा की व्यथा , वेदना व पीडा पर भी नज़र डाली जाए कि उपरोक्त बीमारी से पीड़ित क्या यह बेचारी नगर निगम आयुक्त के कार्यालय या पुलिस थाना पहुँच सकती है !



Post a Comment

0 Comments

काले कपड़े पहन फीस वृद्धि के खिलाफ अभाविप का अनोखा प्रदर्शन