Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

हिमाचल एक्सप्रेस, साबरमती और जनशताब्दी तीन से चार घंटे देरी से पहुंचीं स्टेशन

                        किसान आंदोलन ने रोकी ट्रेनों की रफ्तार, हिमाचल एक्सप्रेस सहित चार ट्रेनें लेट

ऊना,ब्यूरो रिपोर्ट 

अगर आप इन दिनों ट्रेन से सफर करने की सोच रहे हैं तो अपने गंतव्य पर निर्धारित समय से पहुंचने से पूर्व चार घंटे की देरी होनी तय समझें। किसान आंदोलन के चलते लंबी दूरी की ट्रेन का सफर अब बुरी तरह से प्रभावित हो चुका है।जिला ऊना के तीन रेलवे स्टेशन से आवागमन करने वाली प्रमुख एक्सप्रेस ट्रेन भी इस प्रभाव की मार झेल रही हैं। इससे लगातार ट्रेनों के देरी से पहुंचने का क्रम जारी है।

यहां दिल्ली, गुजरात आदि स्टेशन से ऊना आने वाली ट्रेनें लगभग तीन से चार घंटे की देरी से पहुंच रही हैं, तो दिल्ली जाने वाली ट्रेन को भी रास्ते में किसान आंदोलन के चलते रूट बदलाव भारी पड़ रहा है। रविवार को यहां सुपरफास्ट ट्रेनों में शुमार वंदे भारत नई दिल्ली से सही समय पर चलकर ऊना रेलवे स्टेशन पर आधा घंटा देरी से पहुंची है।वहीं, पुरानी दिल्ली से ऊना आने वाली हिमाचल एक्सप्रेस, गुजरात साबरमती से ऊना और ऊना से नई दिल्ली जाने वाली फास्ट एक्सप्रेस जनशताब्दी ट्रेन भी तीन से चार घंटे की देरी से स्टेशन पर पहुंची। यहां बीती रात शनिवार को दिल्ली जंक्शन से दिल्ली से 10:50 बजे चली ट्रेन रविवार को ऊना रेलवे स्टेशन पर 6:40 बजे न पहुंचकर चार घंटे की देरी से 10:39 पर आई। 

वंदे भारत 10:32 बजे न आकर 11:05 बजे सुबह तो साबरमती एक्सप्रेस ऊना में सुबह निर्धारित समय 11:06 बजे न आकर दोपहर 02:05 बजे करीब तीन घंटे देरी से यहां पहुंची। गुजरात साबरमती से यह ट्रेन एक दिन पहले शनिवार के सुबह 9:45 बजे ऊना के लिए रफ्तार भरती है।सरी ओर ऊना से नई दिल्ली के लिए तड़के 4:55 बजे चलने वाली जन शताब्दी ट्रेन नई दिल्ली में 11:45 बजे न पहुंचकर 03:57 बजे यानी चार घंटे देरी से वहां पहुंची। रेलवे अधिकारियों की मानें तो किसान आंदोलन के चलते ट्रेनों का रूट बदलाव किया गया है, इसलिए ट्रेनों को देरी का सामना करना पड़ रहा है।




Post a Comment

0 Comments

आखिर क्यों राशन डिपुओं से हुई चीनी गायब