Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

लोक निर्माण विभाग ने इंजीनियर और कर्मचारियों को किया अलर्ट

                                              बरसात में पुल क्षतिग्रस्त होने पर 15 दिन में बनेगा बेली ब्रिज

शिमला,ब्यूरो रिपोर्ट 

हिमाचल प्रदेश में मानसून रफ्तार पकड़ रहा है। नदी और नाले उफान पर हैं। इसके देखते हुए लोक निर्माण विभाग ने इंजीनियर और कर्मचारियों को अलर्ट किया है। विभाग ने 17 बेली ब्रिज की व्यवस्था की है। बाढ़ से अगर पुल क्षतिग्रस्त होता है तो ऐसी स्थिति में 15 दिन के भीतर लोहे का बेली ब्रिज लगाया जाएगा। बीते साल प्राकृतिक आपदा के चलते लोक निर्माण विभाग के 33 पुल ढह गए थे।

 इससे सबक लेते हुए विभाग ने पहले ही पुलों का इंतजाम किया गया है। हालांकि बीते साल जहां जहां अस्थायी पुल लगाए थे, वहां नए पुलों के निर्माण के साथ-साथ इन पुलों को हटाने का काम भी शुरू हो गया है।लोक निर्माण विभाग के इंजीनियर जिला मंडी, कुल्लू और शिमला में फोकस किए हुए हैं। बीते साल भी इन दो जिलों में बारिश ने तबाही मचा दी थी। मंडी में सड़कें ध्वस्त हो गई थी, कई पुल टूट गए। 10 से 15 दिन तक क्षेत्र एक-दूसरे से कटे रहे। जिला शिमला में भी जानमाल का बड़ा नुकसान हुआ था। बरसात के चलते लोक निर्माण विभाग के मुख्यालय में लगातार इंजीनियरों की बैठकें हो रही हैं।

जिलों से नुकसान की रिपोर्ट मांगी जा रही है। विभाग का दावा है कि अभी तक प्रदेश में बड़ी घटना नहीं हुई है।जिला शिमला और मंडी में सड़कें बंद हैं। इन्हें समय रहते खोला जा रहा है। कई जगह सड़कों से मलबा हटाने के बाद पहाड़ी खिसक रही है। ऐसे में मजदूरों को सावधानी से काम करने के दिशा निर्देश दिए गए हैं। लोक निर्माण विभाग के इंजीनियर इन चीफ नरेंद्र पॉल ने बताया कि 13 बेली ब्रिज की व्यवस्था की गई है। पुराने पुलों का भी ऑडिट किया जा रहा है। जिन पुलों की हालत खस्ता होगी, उन्हें बदला जाएगा। जिला मंडी और शिमला में सड़कें अवरुद्ध हो रही हैं। समय रहते इन्हें यातायात के लिए बहाल किया जा रहा है।





Post a Comment

0 Comments

 कई भागों में 21 जुलाई तक मानसून की बारिश जारी