Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

मुख्यमंत्री ने सराज विधानसभा क्षेत्र के विकासात्मक कार्यों का लिया जायजा

शिमला विशेष संवाददाता
मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने मंगलवार को मण्डी जिला के सराज विधानसभा क्षेत्र के थुनाग और बगश्याड़ क्षेत्रों का दौरा किया तथा इन क्षेत्रों में चल रही विभिन्न परियोजनाओं का निरीक्षण किया।

उन्होंने 16 करोड़ रुपये की लागत से बन रहे मिनी सचिवालय, 6.82 करोड़ रुपये की लागत से निर्माणाधीन लोक निर्माण विभाग के अतिथि गृह तथा 3.50 करोड़ रुपये की लागत से थुनाग में बन रहे ट्रैकर्ज हट का भी निरीक्षण किया। उन्होंने 26.50 करोड़ रुपये की लागत से बगश्याड़ में निर्मित किए जा रहे 50 बिस्तरों की क्षमता वाले नागरिक अस्पताल का भी निरीक्षण किया। उन्होंने अधिकारियों को इन योजनाओं के समयबद्ध निर्माण व गुणवत्तापूर्ण कार्य करने को कहा।


उपायुक्त ऋगवेद ठाकुर, पुलिस अधीक्षक गुरूदेव शर्मा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. देवेन्द्र शर्मा, लोक निर्माण विभाग के मुख्य अभियन्ता दारा सिंह तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी इस अवसर पर उपस्थित थे। सभी विभागों के तहत किसी कारण वंश विगत 20 वर्षों से खर्च नहीं की गई राशि का ब्यौरा प्रमुखता के आधार पर एक सप्ताह के भीतर जिला प्रशासन को देना सुनिश्चित करें ताकि उसका उपयोग अन्य क्षेत्रों में किए जा रहे विकास कार्यों में किया जा सके। शिक्षा, विधि एवं संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज ने यह निर्देश आज बचत भवन में जिला के विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ विकासात्मक एवं आर्थिक गतिविधियों के लिए किए जा रहे कार्यों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए दिए।
उन्होंने कहा कि विभिन्न विभागों के तहत मुख्यमंत्री द्वारा की गई घोषणाओं तथा शिलान्यासों के कार्यों में प्रगति लाई जाए ताकि जल्द से जल्द लोगों को इसका लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि इसके अंतर्गत सभी विभागों में पूर्ण हुए कार्यों की सूचना भी जल्द उपलब्ध करवाई जाए ताकि विकास कार्यों का मुख्यमंत्री से आॅनलाईन शिलान्यास अथवा लोकार्पण करवाया जा सके। उन्होंने कहा कि इस संबंध में कार्य निष्पादन में गुणवत्ता से कोई समझौता नहीं किया जाएगा तथा अनियमितता पाए जाने पर कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।
उन्होंने विभिन्न विभागों से अलग-अलग मदों पर न खर्च हुई राशि का सिलसिला बार सम्पूर्ण विवरण प्राप्त किया। उन्होंने कहा कि विभाग इस संबंध में जल्द रिपोर्ट दें ताकि उस फंड को किसी ओर क्षेत्र में परिवर्तित कर कार्य पूर्ति की जा सके। उन्होंने कहा कि यह राशि उसी विधानसभा में खर्च की जाएगी।
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने कोरोना संकटकाल में विकास की गति को जारी रखने के लिए विभिन्न विभागों के पास लम्बे समय से व्यय न हुए धन का ब्यौरा एकत्र करने के लिए कैबिनेट सब कमेटी का गठन किया है। जल शक्ति मंत्री महेन्द्र सिहं के नेतृत्व में यह कमेटी राज्य स्तर पर विभिन्न विभागों से गहन चर्चा व बैठकें कर नहीं खर्चे हुए पैसे का ब्यौरा एकत्र कर रही है, जिसे बाद में मंत्रिमण्डल के समक्ष प्रस्तुत किया जाएगा।
उन्होंने कहा कि सेब सीजन शुरू होने वाला है जिसके लिए जिला की सड़कों की मुरम्मत करने की आवश्यकता है। इस संदर्भ में संबंधित अधिकारियों को आदेश भी दिए गए हैं।
उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों मंे विकास के कार्यों की निरंतरता को जारी रखने तथा ग्रामीण जनता की आर्थिकी को सुदृढ़ करने के लिए जिला प्रशासन द्वारा मनरेगा के तहत किए जा रहे प्रयासों की सराहना की। उन्होंन कहा कि पिछले वर्ष के मुकाबले मनरेगा में दोगुने कार्य दिवस अर्जित किए गए तथा पैसा भी ज्यादा खर्च किया गया।
उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के दौरान बाहर से जो लोग वापिस आए हैं वह यदि अपने कार्य क्षेत्र में काम करने के इच्छुक नहीं है तो कौशल विकास निगम के अंतर्गत विभिन्न योजनाओं में उनका प्रशिक्षण करवाया जाए ताकि वह किसी और कार्य को अपनाकर अपना जीवन यापन कर सके। उन्होंने कार्यों में आ रही बाधाओं के संबंध में अधिकारियों से जानकारी भी ली।
उन्होंने कहा कि कोरोना वैश्विक महामारी से निपटने के लिए प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन के अनुरूप मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने इस फैलने से रोकने के लिए कई प्रभावी कदम उठाए हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से बचाव के लिए हमें सभी एहतियात एवं सावधानियों को बरतना आवश्यक है। हम इस संबंध में सतर्कता के साथ सभी मानकों का उपयोग करते हुए सुरक्षित बने रह सकते हैं।
उन्होंने कहा कि जिस प्रकार कोरोना महामारी से लड़ने के लिए जिला तथा प्रदेश सरकार ने अच्छा कार्य किया है, उसी दृष्टि से विकास कार्यों में भी तेजी लाने की जरूरत है।


उपायुक्त अमित कश्यप ने बैठक के दौरान जिला प्रशासन द्वारा कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए प्रशासन द्वारा किए गए कार्योें की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि बैठक में विकास कार्यों को गति देने के लिए जो सुझाव व आदेश मंत्री द्वारा जारी किए गए हैं उसका पूरा पालन कर कार्यों को सुनिश्चित किया जाएगा।

Post a Comment

0 Comments

सात एचपीएस अधिकारियो को पुलिस अधीक्षक का रूप मे नियुक्ति