Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

शहीद कैप्टन विक्रम बत्रा राजकीय महाविद्यालय को पालमपुर से परोर शिफ्ट करने का सरकार का निर्णय बिलकुल गलत था:प्रवीन

प्रवीन का दावा इस मुद्दे के कारण उनको देखना पड़ा था हार का मुंह



  • पालमपुर 28 जुलाई,प्रवीण शर्मा
    परोर में बहु तकनीकी कॉलेज खोले जाने के निर्णय एवं जारी अधिसूचना पर पालमपुर के पूर्व विधायक प्रवीन कुमार ने हिमाचल प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष विपिन सिंह परमार को बधाई दी है वहीं रहस्योद्घाटन करते हुए कहा है कि 2003 में वह विधानसभा का चुनाव परोर में कॉलेज खोले जाने के मुद्दे को लेकर ही हारे थे ।




पूर्व विधायक ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि उस वक्त अमर शहीद कैप्टन विक्रम बत्रा राजकीय महाविद्यालय को पालमपुर से परोर शिफ्ट करने का सरकार का निर्णय बिलकुल गलत था ।

पूर्व विधायक ने स्मरण करवाते हुए बर्ष 1996- 97 में तत्कालीन राजा वीरभद्र सिंह शासन काल के दौरान प्रदेश में छ: कालेज खोले जाने की घोषणा की गई थी उस वक्त हमारा यही तर्क था कि परोर में 68 कनाल भूमि शिक्षा विभाग के नाम दर्ज है यहाँ कालेज खोला जाए । इसी मांग को लेकर उस बक्त पंडित ओंकार नाथ शर्मा निवासी खडोठ उपाध्याय के नेतृत्व में संघर्ष समिति का गठन हुआ ओर मुझे महामंत्री की जिम्मेवारी निभानी पडी। पूर्व विधायक ने बताया कि जैसे ही वर्ष 1998 में सत्ता परिवर्तन हुआ तो अपने पहले शरद कालीन सत्र के दौरान धर्मशाला जाते वक्त तत्कालीन मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल का संघर्ष समिति द्वारा परोर में ढोल नगाडों व बैंड बाजे के साथ जोरदार ढंग से स्वागत किया और परोर में कॉलेज खोलने की मांग दोहराई ।



उन्होंने कहा कि उस समय प्रेम कुमार धूमल ने कहा कि आप इतने भारी लोग हैं भवन बना कर दो कॉलेज मैं देता हूँ । पूर्व विधायक ने कहा बस उस वक्त मुख्यमंत्री के इस रहस्योद्घाटन पर हमने जनता जनार्दन के आगे झोली फैलाई सर्वप्रथम स्वर्गीय सरला भंडारी, कुलदीप सिंह गुलेरिया ,संतोष जम्बाल निवासी दरंग व स्वर्गीय राजेंद्र कानगो निवासी परोर ने उस वक्त 51 ,51 हजार रुपए व अन्य कईयों ने अपने अपने सामर्थ्य अनुसार प्रस्तावित कालेज भवन के लिए पैसे दिए और हमने कॉलेज भवन की इमारत खडी कर दी ।

इस तरह जब कालेज देने की बात आई तो पालमपुर का कालेज परोर शिफ्ट कर दिया यह निर्णय सरासर गलत था । उन्होंने कहा कि बाद में मुर्दाबाद और जिंदाबाद के नारों के बीच उच्च न्यायालय की टिप्पणी पर यह कॉलेज पालमपुर में खुला और उसका खामियाजा 2003 के विधानसभा चुनाव में मुझे हार का मुँह देख कर भुगतना पडा । पूर्व विधायक ने भवन निर्माण के लिए उस बक्त जिन दान वीरों ने दान दिया है उन्हे आश्वस्त करते हुए कहा कि भगवान के घर में देर है अंधेर नहीं है लगता है कि 18 वर्षों के उपरांत अव यह भवन हिमाचल प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष विपिन सिंह परमार के प्रयासों और हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के आदेश से तकनीकी कॉलेज के भवन के प्रयोग में आएगा जिसके लिए सभी को पूर्व विधायक प्रवीन कुमार ने बधाई दी।

Post a Comment

0 Comments

भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष करेंगे प्रदेश भर में तीन चुनावी रैलियां