Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

कंगना रानौत ने कि साहस भरी घोषणा: शांता कुमार


  • पालमपुर 25 अगस्त, प्रवीण

  • भारतीय जनता पार्टी के नेता एवं हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री, शान्ता कुमार ने कहा है हिमाचल की बहादुर बेटी कंगना रानौत ने एक बार फिर से बड़े साहस की घोषणा करके सबको चौंका दिया है। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों ने उस पर आरोप लगाया था कि वह एक विषेश एजेण्डा से काम कर रही है उसने ट्वीट किया है - ”हॉं मेरा एजेण्डा है - राष्ट्रवाद -राष्ट्रवाद -राष्ट्रवाद।“ उन्होने कहा है कि मूवी जगत के एक कलाकार से ऐेसी आशा कभी कोई नहीं कर सकता था।


 



जैसा कि विदित है कि कंगना रानौत ने सुशान्त सिंह राजपूत आत्महत्या पर भी सबसे पहले और सबसे अधिक बेबाक टिप्पणी की थी। आज उसकी जांच सी.बी.आई कर रही है। शान्ता कुमार ने कहा की राश्ट्रवाद भारत का प्राण है, आत्मा है और सनातन धरोहर है। उन्होंने कहा कि भारत का राष्ट्रवाद केवल भौगोलिक नहीं सांस्कृतिक है।



 

शांता कुमार ने कहा कि इसकी सबसे पहली घोषणा किसी व्यक्ति या पार्टी ने नहीं की परन्तु स्वंय प्रभु राम ने की थी। उन्होंने कहा कि बाल्मिकी रामायण के अनुसार जब प्रभु श्री राम ने लंका जीत ली। रावण का बध हो गया तो लक्षमण ने कहा - ” भईया अब सोने की लंका हमारी है। अयोध्या जाने की क्या जरूरत है। यहीं राज्य करते है।“ उस पर प्रभु राम ने कहा था - ”जननी जन्मभूमि स्वर्गादपि गरीयसी“ अर्थात अपनी मातृभूमि स्वर्ग से भी अच्छी होती है। यही है भारत का सांस्कृतिक राष्ट्रवाद । उन्होने कहा कि भारत का सांस्कृतिक राष्ट्रवाद मानवतावादी रहा। इसीलिए हजारों वर्ष पहले भारत के ऋषियों ने घोषणा की थी - ”वसुधैव कुटुम्बकम“ अर्थात पूरा विश्व एक परिवार है। यही कारण है की शक्ति सम्पन्न होने के बाद भी भारत ने विश्व भर में जाकर कभी किसी को सताया नही कही अधिकार नही किया। केवल मानवता का सन्देश दिया। उन्होने कहा उन्हें एक बार थाईलैण्ड जाने का अवसर मिला था। वहां की सांस्कृति में हिन्दुत्व है। वहां के लोगो ने अयोध्या नाम से एक नगर भी बसाया है। उन्होने कहा कि भारत के समाजवादी, साम्यवादी और तथा कथित सैकूलर वादी दुर्भाग्य से इस महान सांस्कृतिक राष्ट्रवाद को समझ नही सके। इसीलिये वह राष्ट्रवाद का विरोध करते हैं। शान्ता कुमार ने साहस भरी इस घोषणा के लिए हिमाचल की बहादुर बेटी कंगना रानौत को एक बार फिर से बहुत-बहुत बधाई दी हैं। उन्होंने उनके पिता अमरदीप रानौत को फोन करके सारे परिवार को बधाई दी है।

Post a Comment

0 Comments

भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष करेंगे प्रदेश भर में तीन चुनावी रैलियां