Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

मुख्यमंत्री ने चिकित्सा महाविद्यालय नाहन में 300 एलपीएम क्षमता वाले ऑक्सीजन प्लांट का किया शुभारम्भ


  • शिमला,रिपोर्ट
    मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने शिमला से वर्चुअल माध्यम से जिला सिरमौर के डा. वाई.एस. परमार राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय नाहन में 300 एलपीएम क्षमता वाले ऑक्सीजन प्लांट का शुभारम्भ किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश में महामारी से लड़ने के लिए विभिन्न कदम उठाए हैं। उन्होंने कहा कि कोविड रोगियों को बेहतर उपचार और उनकी ऑक्सीजन की आवश्यकताओं को पूरा करने के उद्देश्य से सरकार ने चिकित्सा महाविद्यालय नाहन में इस पीएसए संयंत्र की स्थापना की है। उन्होंने कहा कि इस संयंत्र के लिए भारत सरकार द्वारा उपकरण प्रदान किए गए और राज्य सरकार द्वारा गैस मैनीफोल्ड संयंत्र, ऑक्सीजन, पाइप लाइन, सिविल और इलैक्ट्रिक कार्य पर लगभग 58 लाख रुपये खर्च किए गए। उन्होंने कहा कि इस संयंत्र पर 1.25 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं।




जयराम ठाकुर ने कहा कि इस संयंत्र से 300 लीटर प्रति मिनट (एलपीएम) ऑक्सीजन का उत्पादन होगा और इसे कोविड आइसोलेशन वार्ड के 25 बिस्तरों की ऑक्सीजन पाइप लाइन से जोड़ा गया है। उन्होंने कहा कि इस संयंत्र से वेंटीलेटर स्पोर्ट पर निर्भर गंभीर रोगियों को ऑक्सीजन उपलब्ध करवाई जाएगी, जिससे उनकी ऑक्सीजन सिलेंडर पर निर्भरता कम होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अब तक ऑक्सीजन सिलेंडर को हर दो घंटे में बदलने की आवश्यकता होती थी, जिसके लिए श्रमिकों और परिवहन पर निर्भर रहना पड़ता था। इस संयंत्र की स्थापना से जरूरतमंद रोगियों को ऑक्सीजन की आपूर्ति निर्बाध रूप से सुनिश्चित होगी। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर अधिक घातक है, इसलिए अधिक सतर्क रहने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश में होने वाले विवाह कार्यक्रमों को केवल घरों या न्यायालयों में ही सम्पन्न करने का निर्णय लिया है। विवाह के लिए किसी को भी मैरिज पैलेस, टैंट, कैटरिंग और डीजे इत्यादि किराए पर लेने की अनुमति नहीं होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार रोगियों की कोविड जांच में तेजी लाने के लिए प्रतिबद्ध है ताकि रोगियों को समय रहते उपचार सुनिश्चित किया जा सके। उन्होंने कहा कि चिकित्सा महाविद्यालय को 32 लाख रुपये की रेफ्रिजरेटिड सेंट्रिफ्यूजड और रीयल टाईम पीसीआर मशीन प्रदान की गई है, जिससे कोविड-19 रोगियों की जांच में तेजी लाने में सहायता मिलेगी। मुख्यमंत्री ने नाहन चिकित्सा महाविद्यालय में ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए 1000 एलपीएम क्षमता वाला एक अतिरिक्त ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने की भी घोषणा की।

Post a Comment

0 Comments