Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

विमारी आगे न फैले उसके लिये घोड़े को दी गई इच्छामृत्यु

पालमपुर, रिपोर्ट

ग्राम पंचायत कलूण्ड के निवासी  कुलदीप चंद सुपुत्र  प्रेमचंद का घोड़ा जोकि गलैंडरेस  नामक बीमारी से ग्रस्त था यह बीमारी घोड़ों से घोड़ों तथा घोड़ों से मनुष्यों में भी फैल सकती है। इस घोड़े के तीन बार खून के सैंपल लिए गए और तीनों बार पॉजिटिव पाए गए । 

अतः इस घोड़े को इच्छामृत्यु देना अनिवार्य था । ताकि यह बीमारी आगे न फैल सके । इसलिए इस घोड़े को पशु पालन विभाग की टीम द्वारा इच्छा मृत्यु दी गई ,अंडर प्रीवेंशन एंड कंट्रोल ऑफ इनफेक्शियस एंड कॉन्टेजियस डिजीज  इन एनिमल एक्ट 2009  के तहत। इस टीम में डॉ अंशु राज पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ मनीष गुप्ता , पशु चिकित्सा अधिकारी हेमराज , पशुपालन सहायक बुद्धि चंद  ,पशु पालन परिचारक विनय , पशु पालन परिचारक उपस्थित थे। इस मौके पर ग्राम पंचायत कलूण्ड  नगरी के प्रधान नरेंद्र भट्ट उपस्थित रहे। जिन्होंने इस कार्य को सफलतापूर्वक पूर्ण करने हेतु अपना सहयोग दिया। इस एक्ट के अंतर्गत इस पंचायत व साथ लगती पंचायतों के घोड़ों के भी खून के नमूने जांच के लिए लिए जाएंगे ताकि बीमारी को फैलने से पहले ही रोका जा सके। नमूने को जांच हेतु एनआरसी लैब हरियाणा भेजे जाएंगे। प्रधान नरिन्द्र भट्ट ने बताया कि घोड़े का मालिक वीपीएल परिवार से सम्बंधित है और इसकी कमाई का एकमात्र जरिया यह घोड़ा ही था। अतःउन्होंने प्रशासन से आग्रह किया कि जल्द ही इन्हें इसका मुआबजा दिया जाए ताकि गरीव परिवार को अपना परिवार चलाने के लिए सहारा मिल सके।

Post a Comment

0 Comments

लकड़ीनुमा स्लेटपोश में दस कमरों का घर जलकर राख