Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

आयुर्वेदिक स्वास्थ्य केंद्र कुफरी में पांच साल से नही है डॉक्टर

फार्मासिस्ट देख रहा लोगों की नब्ज, ग्रामीणों में सरकार के खिलाफ आक्रोश

जनप्रतिनिधियों सहित ग्रामीणों ने डॉक्टर की नियुक्ति करने की उठाई मांग

कृष्ण भोज


उपमंडल पद्धर के इलाका दुंधा के आयुर्वेदिक स्वास्थ्य केंद्र कुफरी में पांच साल से डॉक्टर नही है। यहां फार्मासिस्ट मरीजों की नब्ज देख रहा है। पांच सालों से कोई डॉक्टर की नियुक्ति न होने पर स्थानीय ग्रामीणों सहित पंचायत के जनप्रतिनिधियों का गुस्सा सातवें आसमान पर है। 

कोरोनाकाल में प्रदेश सरकार बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने के दावे धरातल में कुछ और हैं। आयुर्वेदिक स्वास्थ्य केंद्र कुफरी में स्थानीय पंचायत सहित ग्राम पंचायत भड़वाहण के लोग स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ लेने पहुंचते हैं। लेकिन स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टर न होने की बजह से लोगों को पीएचसी बड़ीधार स्थित पदवाहण जाना पड़ता है। यहां पर भी कई बार डॉक्टर का डेपुटेशन सिविल अस्पताल पधर किया जाता है। ऐसे में इलाका दुंधा की जनता को स्वास्थ्य सुविधा के लिए परेशानी झेलनी पड़ रही है। 



कुफरी पंचायत के उप प्रधान ओम प्रकाश ठाकुर सहित ग्रामीणों में नरेश कुमार, कैप्टन मनोहर लाल, धर्मवीर सिंह, प्रवीण कुमार, रूप चंद, गोबिंद राम और ललित कुमार सहित अन्यों ने बताया कि स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टर न होने से लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं महंगी पड़ रही हैं। आपातकालीन समय मे लोगों को खासी परेशानी से जूझना पड़ता है। 25 से तीस किलोमीटर पधर या मंडी उपचार के लिए जाना पड़ रहा है। दो पंचायतों की चार हजार से अधिक की आबादी पिछले पांच सालों से यह समस्या झेलती आ रही है। 



प्रदेश सरकार और आयुर्वेदिक स्वास्थ्य विभाग से डॉक्टर का रिक्त पद भरने की गुहार प्रतिनिधि कई बार लगा चुके हैं। लेकिन पांच साल बीतने बावजूद कोई डॉक्टर की नियुक्ति स्वास्थ्य केंद्र में नही हो पाई है। पंचायत उप प्रधान ओम प्रकाश ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार एक तरफ बेहतर और निशुल्क स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने के दावे करती है। लेकिन इलाका दुंधा में हकीकत कुछ और है। यहां लोगों को उपचार के लिए जहां जेब ढीली करनी पड़ रही है वहीं परेशानी भी झेलनी पड़ रही है। गुस्साए ग्रामीणों ने कहा कि स्वास्थ्य केंद्र में शीघ्र डॉक्टर का पद नही भरा गया तो मजबूरन सरकार के खिलाफ धरने प्रदर्शन के लिए बाध्य होना पड़ेगा।

आयुर्वेदिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टर का पद खाली होने की रिपोर्ट प्रदेश सरकार और विभागीय निदेशालय को दी गई है। सरकार डॉक्टरों की नियुक्ति करती है तो कुफरी आयुर्वेदिक स्वास्थ्य केंद्र में रिक्त पद भरा जाएगा।


गोबिंद राम शर्मा, जिला आयुर्वेदिक स्वास्थ्य अधिकारी।

Post a Comment

0 Comments

लकड़ीनुमा स्लेटपोश में दस कमरों का घर जलकर राख