Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

बैजनाथ में बनाएं जाऐंगे पांच क्लस्टर, बंजर पड़ी जमीन पर होगी बागवानी

बैजनाथ रितेश सूद


उपमण्डल बैजनाथ में शिवा क्लस्टर के माध्यम से बरसात के मौसम में पांच नए कलस्टर का निर्माण किया जाएगा। इस कलस्टर के माध्यम से  बंजर पड़ी जमीन पर बागवानी विभाग दवारा फलों के पौधो का रोपण किया जाएगा,वही जल शक्ति विभाग इस पौधो की सिंचाई कूहलो और अन्य साधनों करेगा।यह पांच कलस्टर लंघु सकड़ी,लंघु गदियाडा, लंघु मलघोटा और तरेहल लगाए जाएंगे। इन पांच क्लस्टरों में एक हेक्टेयर बंजर जमीन पर बागवानी विभाग मिट्टी की गुणवत्ता को देख कर फलदार पौधे जिसमे सिटरस प्लांट्स जैसे निम्बू संतरा आम अमरूद जैसे पौधों की प्रजातियां लगाएगा,वहीं इन पौधों को सींचने का काम जल शक्ति विभाग करेगा। जबकी इस जमीन की फेंसिंग के लिये दोनों विभाग अपनी जॉइंट इंस्पेक्शन करेंगे। जिसके बाद इस के टेंडर लगाए जाएंगे।



इस समय दो क्लस्टरों का निर्माण सेहल ओर धानंग गांवों में किया जा चुका है। इन दो क्लस्टरों में दस दस हेक्टेयर में विभाग फलदार पौधे लगा चुका है। सेहल में अमरूद के पौधे पिछले एक साल से लगाए जा चुके है। धानंग गांव में भी कुछ महीने पहले लीची के पौधे विभाग द्वारा लगाए जा चुके है। इन कलस्टर में तैयार पौधों के फल जमीन का मालिक अपने दाम पर बाजार में बेच सकेगा।जिससे उसकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। इस बारे में जलशक्ति विभाग के सहायक अभियंता अमित चौधरी ने बताया  कि बरसात के मौसम के दौरान बैजनाथ में पांच नए  क्लस्टर का निर्माण किया जाएगा। जिनमें फलदार पौधे लगाए जाएंगे। इन कलस्टर में  लोअर बैजनाथ कूहल या फिर अन्य संसाधनों से सिंचाई की जाएगी दोनों विभाग आगे भी जहां पर सिंचाई की सुविधा उपलब्ध होगी  नए क्लस्टर का निर्माण  करेंगे। इनके निर्माण से निचले हिमाचल के लोगो की आर्थिक स्थिति ज्यादा बेहतर बनेगी।

Post a Comment

0 Comments