Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

बत्रा महाविद्यालय में एनसीसी दिवस से एक दिन पूर्व कैडेट्स द्वारा शहीदों को किया याद

पालमपुर ,रिपोर्ट
राष्ट्रीय कैडेट कोर 28 नवंबर को अपनी 73वीं वर्षगांठ मना रही है। शहीद कैप्टन विक्रम बत्रा महाविद्यालय में एनसीसी दिवस से एक दिन पूर्व शनिवार को कैडेट्स द्वारा शहीदों को याद किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत शहीद कैप्टन विक्रम बत्रा को श्रद्धांजलि देकर और लेफ्टिनेंट डॉक्टर दीप कुमार द्वारा एनसीसी झंडा फहरा कर कि गयी। तत्पश्चात कैडेट्स द्वारा एनसीसी परेड का शानदार प्रदर्शन किया गया। कैडेट्स द्वारा देशभक्ति से ओत-प्रोत कविता पाठ, समूह गान, एकल गान, नाटक इत्यादि सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए। कार्यक्रम की अध्यक्षता महाविद्यालय प्राचार्य  डॉक्टर प्रदीप कौंडल द्वारा की गई। उन्होंने विद्यार्थियों को देशभक्ति और देशसेवा जैसे गरिमामयी विषयों का महत्व समझाते हुए अनुशासन और चारित्रिक दृढ़ता को जीवन का हिस्सा बनाने का आह्वान किया। 
           
एनसीसी अधिकारी लेफ्टिनेंट डॉ दीप कुमार एवं लेफ्टिनेंट रेनू डोगरा ने बताया कि भारत में एनसीसी, 15 जुलाई 1948 को, राष्ट्रीय कैडेट कोर अधिनियम द्वारा गठित की गई थी। भारत के पहले प्रधान मंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू ने, नवंबर 1948 के आखिरी रविवार को, दिल्ली में, पहली एनसीसी इकाई के गठन के समारोह की अध्यक्षता की थी. इसलिए हर साल  नवंबर के आखिरी रविवार को एनसीसी स्थापना दिवस मनाया जाता है।यह एक त्रि-सेवा संगठन है, इसका आदर्श वाक्य “एकता और अनुशासन” है। 
        राष्ट्रीय कैडेट कोर का लक्ष्य कैडेट्स को समाज के अच्छे नागरिक बनाने और उन्हें जीवन के प्रत्येक क्षेत्र मे योग्य और अग्रणी बनाने के लिए उनमें चारित्रिक गुणों का विकास करना है। एनसीसी में आकर कैडेटों में नेतृत्व करने की क्षमता पैदा होती है जो उनके जीवन में काम आती है।

Post a Comment

0 Comments

फिर शातिरों ने चली चाल एक युवक से तीन लाख की धोखाधड़ी