Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

कुल्लू के मझाण मैं हुए अग्निकांड में लोगों को मुख्यमंत्री आवास योजना मैं दी जाएगी राहत

◆उपायुक्त कुल्लू आशुतोष गर्ग मौके पर पहुंचे

कुल्लू, रिपोर्ट

कुल्लू के मझाण मैं हुए अग्निकांड में लोगों को मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत राहत देने की योजना बनाई गई है। जैसा की सर्वविदित है कि शनिवार को कुल्लू जिले के मझाण गांव के अग्निकांड से 30 परिवार प्रभावित हुए थे तथा उनके परिवार में कुछ गौशाला पूरी तरह जलकर राख हो गई थी। इसी कड़ी में उपायुक्त कुल्लू आशुतोष गर्ग मौके पर पहुंचे तथा उन्होंने कुछ राहत राशि देने के साथ यह घोषणा की सरकार की तरफ से की। उन्होंने बताया कि 30 परिवारों के मकानों का निर्माण मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत किया जाएगा। इसके लिए लकड़ी टीडी के तहत ग्रामीणों को मुहैया करवाने के लिए वन विभाग को कहा जाएगा।


अग्निकांड के बाद रविवार को हालात का जायजा लेने पहुंचे उपायुक्त कुल्लू आशुतोष गर्ग प्रभावितों का हाल जाना। मौके पर सभी प्रभावितों को पांच-पांच हजार की फौरी राहत और 20-20 हजार रुपये रेडक्रास से देने के आदेश दिए गए। इस अग्निकांड में 27 घर, 26 पशुशालाएं और दो मंदिर जल गए हैं और नौ करोड़ का नुकसान हुआ है।
तीन घंटे पैदल सफर कर उपायुक्त आशुतोष गर्ग यहां पर पहुंचे। उन्होंने ग्रामीणों से हादसे के कारणों को जानने का प्रयास किया तथा जो लोग प्रभावित हुए हैं, उनसे भी बातचीत की। प्रशासन द्वारा कंबल, तिरपाल, राशन सामग्री, बर्तन आदि रिलीफ मैनुअल के तहत प्रभावित परिवारों को वितरित किए गए हैं। मौके पर 10 से 20 बच्चों के स्कूल की किताबें आदि पूरी तरह से जलने पर उपायुक्त ने शिक्षा विभाग को तुरंत प्रभाव से उनके लिए किताबों का बंदोबस्त करने के आदेश दिए। साथ ही गांव के लिए पेयजल की समस्या को भी जल्द हल करने के आदेश दिए। लोगों की मांगों पर स्थानीय विधायक सुरेंद्र शौरी ने उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया और लोगों का सहयोग मांगा। उन्होंने भी लोगों से दुख की इस घड़ी में एकजुट रहने की अपील की। उपायुक्त ने जिलावासियों से अपील की है कि सर्दी के मौसम में लोग आग लगने वाले संवेदनशील स्थानों पर विशेष एहतियात बरतें। पशु चारे और लकड़ी वाले स्थानों पर लोग विशेष ध्यान रखें।
वहीं, कांग्रेस प्रत्याशी रहे आदित्य विक्रम भी मझाण गांव पहुंचे और वहां पर 35000 रुपये की राहत राशि दी। उन्होंने मुख्यमंत्री से प्रभावितों की मदद के लिए तुरंत कार्रवाई करने का आग्रह किया।

घटना की सूचना मिलते ही विधायक सुरेंद्र शौरी शनिवार रात 11.30 बजे ही मझाण गांव पहुंच गए थे। उन्होंने रात मझाण के ग्रामीणों के साथ ही वहां रुके। शौरी धर्मशाला विस सत्र के लिए गए थे, लेकिन सूचना मिलते ही तुरंत प्रभाव से गांव के लिए रवाना हो गए थे। उन्होंने लोगों की हरसंभव मदद करने का आश्वासन दिया है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक प्रभावित को उनका खाता नंबर देने पर एक लाख 11 हजार रुपये की राशि तुरंत दे दी जाएगी।



Post a Comment

0 Comments

पालमपुर की बेटी प्रणवी सूद ने किया जिले का नाम गर्व से ऊँचा