Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

पालम टैक्सी ऑपरेटर यूनियन तथा एक टैक्सी ऑपरेटर के मध्य विवाद गहराया

◆टैक्सी यूनियन ने कहा 2 दिन के अंदर समस्या का हल नहीं हुआ तो देंगे सामूहिक चावियाँ

पालमपुर,प्रवीण शर्मा
पालम टैक्सी ऑपरेटर यूनियन पालमपुर तथा फरेड के टैक्सी ऑपरेटर के मध्य चल रहे विवाद ने तूल पकड़ना शुरू कर दिया है। इस विषय पर जहां पालम टैक्सी ऑपरेटर यूनियन पालमपुर द्वारा एक ज्ञापन के माध्यम से एसडीएम पालमपुर को चेतावनी दी गई की अगर 2 दिन के भीतर इस समस्या का हल नहीं निकला तो वह सामूहिक तौर पर सभी टैक्सी ऑपरेटर अपनी गाड़ियों की चाबी उनके पास सौंप देंगे और काम नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि यह विवाद 10 जनवरी से शुरू हुआ है और 10 जनवरी को उन्होंने इस विषय पर थाना पालमपुर में शिकायत दर्ज की थी और 11 जनवरी को डीएसपी पालमपुर के पास भी शिकायत दी थी। लेकिन उन्होंने आरोप लगाया कि आज 27 जनवरी तक इस विषय पर कोई भी हल नहीं निकला। उन्होंने कहा कि हालांकि इस विषय पर वीरवार को जब पालमपुर पुलिस थाना में उन्हें बुलाया गया था तो उनके साथ टैक्सी ऑपरेटर जगदीश भारद्वाज द्वारा समस्या का हल निकालने के बजाय उन्हें धमकियां दी गई। 
उन्होंने कहा कि इस विषय को लेकर सभी परेशान हैं और अपना काम सुचारू नहीं कर पा रहे हैं और बैंक से भी उन्हें नोटिस आ रहे हैं। उन्होंने प्रशासन से आग्रह किया है कि 2 दिन के भीतर इस समस्या का हल निकाला जाए अन्यथा वह अपना आंदोलन शुरू करेंगे। उन्होंने कहा कि इतनी दूर से आकर उक्त टैक्सी चालक यहां पर काम कर रहे हैं जबकि उन्हें यह कहा जा रहा है कि वह स्थानीय यूनियन के साथ अपने आप को पंजीकृत करें और उनकी पर्ची लेकर यहां पर वह सवारी उठा सकते हैं। जिसको भी यह टैक्सी ऑपरेटर नहीं मान रहे। जिस कारण उन्होंने कहा कि इस प्रकार का फैसला सामूहिक तौर पर उन्हें लेना पड़ा। इस अवसर पर उनके साथ पंचायत प्रधान कमला कपूर भी उनके समर्थन में उपस्थित थे।

वहीं दूसरी ओर टैक्सी ऑपरेटर जगदीश भारद्वाज का कहना है कि वह पिछले 18 सालों से कार्य कर रहे हैं तथा वह अपनी गाड़ी किसी स्टैंड पर नहीं लगाते हैं। उनको लोग अपनी सुविधा के अनुसार फोन करके बुलाते हैं और वह सवारी लेते हैं। 

उन्होंने कहा कि आज दिन तक उन्हें किसी ने परेशान नहीं किया और वह अपना कार्य सुचारू चला रहे हैं तथा उनकी रजिस्ट्रेशन पालमपुर यूनियन में है। लेकिन उन्होंने आरोप लगाया कि कुछ समय से पालमपुर टैक्सी ऑपरेटर यूनियन द्वारा उन्हें काम करने से रोका जा रहा है और उन्हें सवारी नहीं ले जाने दी जा रही। उनका आरोप है कि हालांकि उनके पास ऑल इंडिया टूरिस्ट परमिट है वह कहीं से भी सवारी उठा सकते हैं जिसके लिए उन्हें किसी प्रकार की ओर परमिशन की आवश्यकता नहीं है। लेकिन उन्होंने आरोप लगाया कि उनके साथ गुंडागर्दी करके उन्हें रोका जा रहा है और उसके कारण उनका सारा परिवार परेशान है और उन्होंने बैंक से लोन ले रखा है। लेकिन उन्हें काम नहीं करने दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ऐसा कोई भी नियम नहीं है की वह सवारी नहीं ले सकते। उन्होंने इन आरोपों को सिरे से खारिज किया कि उन्होंने किसी को धमकाया है बल्कि उन्होंने कहा कि रोज उनकी गाड़ी को रोककर गुंडागर्दी करके टैक्सी ऑपरेटर उनको धमका रहे हैं।

क्या कहा एसडीएम अमित गुलेरिया ने
इस विषय पर टैक्सी ऑपरेटर उनके पास आए थे और उन्होंने एक ज्ञापन उन्हें दिया है तथा इस संदर्भ में पहले भी दो तीन बार बातचीत हो चुकी है। प्रशासन प्रयास कर रहा है लेकिन कोई हल नहीं निकल रहा। एक बार फिर से प्रयास किया जाएगा अगर हल नहीं निकलता है तो आगामी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।



Post a Comment

0 Comments

आखिर क्यों राशन डिपुओं से हुई चीनी गायब