Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

11 हजार 200 बच्चों को पोलियो दवा पिलाने का लक्ष्य



पालमपुर,रिपोर्ट
राष्ट्रीय पल्स पोलियो अभियान के तहत पालमपुर उपमण्डल में 27 फरवरी को 0 से 5 वर्ष के 11 हजार 200 बच्चों को पल्स पोलियों ड्राप्स पिलाने का लक्ष्य निर्धारित गया है। इसके लिए स्वास्थ्य खण्ड गोपालपुर में 96 पल्स पोलियों बूथों का निर्माण किया जा रहा है।
उपमण्डल में राष्ट्रीय पल्स पोलियो अभियान के सफल आयोजन के लिए एसडीएम पालमपुर, डॉ0 अमित गुलेरिया की अध्यक्षता बुधवार को बैठक का आयोजन किया गया। बैठक, उपमहापोर अनिश नाग, बीएमओ गोपालपुर डॉ0 मीनाक्षी गुप्ता सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी, स्कूलों और समाज सेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।
बैठक में बीएमओ गोपालपुर ने जानकारी देते हुए बताया कि स्वास्थ्य खण्ड गोपालपुर में 11 हजार 200 बच्चों को पोलियो ड्राप्स पिलाने का लक्ष्य रखा गया है। जिसके लिए 96 बूथ का निर्माण किया गया है। उन्होंने बताया कि इन बूथों पर लगभग 384 स्वास्थ्य कार्यकर्ता, आशा वर्कर और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को तैनात होंगे। उन्होंने बताया कि इस अभियान सफल बनाने के लिए 19 पर्यवेक्षक भी तैनात किये गये हैं। 
उन्होंने कहा कि पोलियो दिवस के ही दिन 99 प्रतिशत लक्ष्य हासिल करने का लक्ष्य है जबकि लक्ष्य को शतप्रतिशत हासिल करने के तहत 28 फरवरी व 1 मार्च को स्वास्थ्य कार्यकर्ता घर-घर जाकर छूटे हुए बच्चों को पोलियो ड्राप्स पिलाये जायेंगे। उन्होंने बताया कि बस स्टेंड पालमपुर, बस स्टेंड डाढ़ और रेलवे स्टेशन पंचरूखी में तीन ट्रांज़िट बूथ बनाये गये हैं। उन्होंने बताया कि इसमे 7 हाई रिस्क एरिया तथा दो छावनी क्षेत्रों में भी बूथ लगाये जा रहे हैं।
एसडीएम गुलेरिया ने बताया कि पालमपुर प्रशासन ने पल्स पोलियों अभियान के सफल आयोजन के लिए व्यापक इंतजाम किये हैं। उपमण्डल में सभी पोलियों बूथों में प्रातः 9 बजे से 4 बजे तक क्षेत्र के रेलवे स्टेशनों, सभी बस अड्डों, सेना छावनी क्षेत्रों और प्रवासी मजदूरों के रहने के स्थान पर भी पोलियों बूथ लगाए जा रहे हैं, ताकि प्रत्येक बच्चे को दवाई की पिलाई जा सके। उन्होंने क्षेत्र के सभी समाज सेवी संस्थाओं से आहवान किया इस अभियान के सफल आयोजन के लिए बढ़-चढ़कर आगे आयें। उन्होंने क्षेत्र के सभी स्कूलों के प्रधानाचार्यों से भी आहवान कि वे भी इस बात को विशेष रूप से सुनिश्चित करें उनके स्कूलों में पांच वर्ष के बच्चों को पोलियों ड्राप्स पिलाए गए हैं। उन्होंने 0 से 5 वर्ष के बच्चों के अभिभावकों से अपने बच्चों को पोलियो बूथ ले जाने का भी आहवान किया। उन्होंने अभिभावकों से 15 से 18 वर्ष के सभी बच्चों जिन्हें कोविड वैक्सीन की दूसरी डोज नहीं लगी है इसे शीघ्र लगवाने का आहवान किया।

Post a Comment

0 Comments

आखिर क्यों राशन डिपुओं से हुई चीनी गायब