Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

राज्य के सभी मंदिरों को सुनियोजित तरीके से किया जाएगा विकसित: अग्निहोत्री

                                             लंज में सत्य साईं संगठन के वार्षिक कार्यक्रम में की शिरकत

धर्मशाला,रिपोर्ट मोनिका शर्मा 

 राज्य के सभी शक्तिपीठों तथा पौराणिक मंदिरों को सुनियोजित तरीके से विकसित करने की योजना तैयार की जा रही है ताकि इन मंदिरों को भव्य रूप प्रदान किया जा सके। शुक्रवार को लंज में सत्य साईं संगठन द्वारा आयोजित समागम में बतौर उपमुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि देवभूमि हिमाचल हर वर्ष लाखों श्रद्वालुओं को आकर्षित करती है। राज्य सरकार ने प्रदेश के प्रमुख मंदिरों को ई-कनेक्ट करने के लिए महत्वपूर्ण पहल की है जिससे भक्तों को घर बैठे ही दर्शन की सुविधा सुनिश्चित होगी।

 उन्होेंने कहा कि सरकार ने राज्य के मंदिरों, शक्तिपीठों में हवन, भंडारा और जागरण समारोहों के लिए आनलाइन बुकिंग की सुविधा प्रदान करने के लिए एक पायलट योजना आरंभ की है। इस डिजिटल प्लेटफार्म के माध्यम से श्रद्वालु मंदिर के पुजारियों से भी जुड़ सकते हैं। उन्होंने कहा कि तीर्थ यात्रियों के अनुभवों को और सुखद बनाने के लिए सरकार प्रमुख मंदिरों के सौंदर्यीकरण तथा बुनियादी ढांचे के विकास पर भी कार्य कर रही है। श्रद्वालुओं को मंदिरों में विश्राम के लिए भी बेहतर सुविधाओं पर विशेष बल दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य के तीर्थ स्थान पर्यटन का केंद्र बिंदु है तथा इसी दृष्टि से मंदिरों को विकसित करने की योजना तैयार की जा रही है ताकि तीर्थाटन के साथ साथ स्थानीय लोगों को रोजगार के अवसर भी मिल सकें।

उन्होंने कहा कि चिंतपूर्णी मंदिर को भव्य रूप प्रदान करने के लिए जमीन भी अधिग्रहित की गई है इसके साथ ही लाहौल के मृकुला देवी मंदिर, रामपुर के सूर्यदेव मंदिर, चंबा के चैरासी मंदिर सहित विभिन्न मंदिरों में बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करवाने की दिशा में कदम उठाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि श्रद्वालुओं को दर्शनों की बेहतर सुविधा के लिए परिवहन विभाग द्वारा दर्शन योजना आरंभ की गई है। उन्होंने कहा मंदिरों के चढ़ावे का श्रद्वालुओं की सुविधा के लिए उपयोग भी सुनिश्चित किया जाएगा।



Post a Comment

0 Comments

सीएम सुक्खू ने महिला सम्मान निधि योजना शुरू की