Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

जिला मुख्यालय ऊना में पंजाब और हरियाणा राज्यों में पंजीकृत ऑटो रिक्शा दौड़ रहे हैं

                                 ऊना में दौड़ रहे हरियाणा और पंजाब में पंजीकृत ऑटो रिक्शा

ऊना,रिपोर्ट अविनाश चौहान 

जिला मुख्यालय ऊना में पंजाब और हरियाणा राज्यों में पंजीकृत ऑटो रिक्शा दौड़ रहे हैं। ऑटो रिक्शा संचालकों ने हिमाचल परिवहन विभाग के पास न तो अपना पंजीकरण करवाया है और न ही ऊना शहर में इनका संचालन करने का कोई वैध दस्तावेज है। मगर शहर में यह ऑटो रिक्शा सरेआम दौड़ रहे हैं।इन ऑटो रिक्शा पर प्रशासन और संबंधित विभाग लगाम कसने में नाकाम साबित हो रहा है। विभाग की तरफ से बीते दिनों इन ऑटो को जब्त कर कार्रवाई की गई। इस कार्रवाई का असर कुछ दिन तो देखने को मिला, लेकिन उसके बाद हालात जस से तस बने हुए हैं। ऑटो स्टैंड पर खड़े न होने के बजाय यह ऑटो शहर के मुख्य स्थानों पर दिन-रात चल रहे हैं।


 
इन ऑटो रिक्शा के नियमों के हिसाब से दस्तावेज भी नहीं है। ऐसे में यह ऑटो सवारियों की जान जोखिम में डालकर शहर में एक-स्थान से दूसरे स्थान पर चल रहे हैं।परिवहन विभाग की तरफ से इन ऑटो संचालकों पर कार्रवाई का कुछ दिन तक तो असर देखने को मिलता है। मगर जैसे ही विभाग की कार्रवाई बंद होती है तो समस्या जस की तस बन जाती है। इस मामले पर प्री पेड पैसेंजर ऑटो यूनियन ऊना की तरफ से संबंधित विभाग के अधिकारियों से भी मांग की गई है।बता दें कि जिला मुख्यालय पर 60 के पंजीकृत ऑटो हैं। इसके अलावा 100 के करीब ऐसे ऑटो हैं, जिनका हिमाचल परिवहन विभाग के पास पंजीकरण नहीं है। इससे पंजीकृत ऑटो संचालकों का कारोबार भी प्रभावित होने के साथ ही प्रदेश सरकार को भी राजस्व का चूना लग रहा है।नियमों को ताक पर रखकर चलाए जाने वाले ऑटो रिक्शा पर शिकंजा कसने के लिए विभाग एक सप्ताह के भीतर कार्रवाई शुरू करेगा। नियमों को ताक पर रखने वाले ऑटो संचालकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। -अशोक कुमार, आरटीओ, ऊना।अवैध रूप से चलने वाले ऑटो रिक्शा पर प्रशासन लगाम कसे। पंजीकृत ऑटो संचालक सरकार को टैक्स अदा करते हैं, जबकि अवैध रूप से चलने वाले ऑटो का कोई टैक्स या शुल्क नहीं देते हैं। इन सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।




Post a Comment

0 Comments

हिडिंबा माता मंदिर में  उपमुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री ने बेटी के साथ नवाया शीश