Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

आखिर क्यों सीटी स्कैन न होने पर धरने पर बैठ गया मरीज

मरीज के हड़ताल पर बैठने की भनक जब डॉक्टरों को लगी तो उन्हें तुरंत सीटी स्कैन के लिए ले जाया गया

शिमला,रिपोर्ट नीरज डोगरा 

इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज (आईजीएमसी) में मंगलवार को एक मरीज सीटी स्कैन न होने से नाराज होकर धरने पर बैठ गया। मरीज इस बात पर अड़ा रहा कि जब तक उपायुक्त और स्वास्थ्य मंत्री मौके पर नहीं आते तब तक वह धरने से नहीं उठेगा। मामला अधिक बढ़ा तो ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर और अन्य कर्मी मौके पर पहुंचे तथा मरीज को मनाकर टेस्ट के लिए ले गए। 

आईजीएमसी के रेडियोलॉजी विभाग में यह मामला शाम के वक्त पेश आया।शिमला के शोघी के रहने वाले सुनील कुमार शर्मा (43) को सांस लेने में दिक्कत थी। उपचार के लिए वह 29 अक्तूबर को आपातकालीन विभाग में आए थे। यहां पर उन्हें प्राथमिक उपचार दिया गया। इसके बाद मेडिसिन वार्ड में दाखिल किया। मरीज को निमोनिया भी है। मरीज ने बताया कि मंगलवार को चिकित्सकों ने पूरे शरीर का सीटी स्कैन करवाने को कहा था। ऐसे में जब वह टेस्ट करवाने के लिए रेडियोलॉजी विभाग आए तो औपचारिकता पूरी करने के बाद डॉक्टरों ने दोपहर दो बजे सीटी स्कैन करने की बात कही थी।शाम चार बजे तक जब उनका टेस्ट नहीं हुआ तो वह धरने पर बैठ गया। मरीज ने बताया कि वह सुबह से भूखा प्यासा है। मरीजों के साथ इस तरह का व्यवहार सही नहीं है। मरीज के हड़ताल पर बैठने की भनक जब डॉक्टरों को लगी तो उन्हें तुरंत सीटी स्कैन के लिए ले जाया गया। शाम 5:55 बजे टेस्ट हुआ। आईजीएमसी के उप चिकित्सा अधीक्षक डॉ. प्रवीण भाटिया ने बताया कि अस्पताल में किसी मरीज के सीटी स्कैन न होने का मामला ध्यान में नहीं है। किसी तरह की शिकायत भी नहीं आई है। 




Post a Comment

0 Comments

अब शिंकुला दर्रा होकर पदुम चलेगी निगम की बस