Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

30 मिनट में पांच किलोमीटर दौड़ पूरी करने वाले ही बन सकेंगे वन मित्र

                                                30 दिसंबर तक इन पदों के लिए आवेदन कर सकेंगे

शिमला,ब्यूरो रिपोर्ट 

वन मित्र योजना के तहत 30 मिनट में पांच किलोमीटर दौड़ पूरी करने वाले पुरुष और 10 मिनट में डेढ़ किलोमीटर दौड़ पूरी करने वाली महिलाएं ही पात्र होंगी। शारीरिक दक्षता जांचने के लिए दौड़ होगी। वन मित्र बनने के लिए पात्रता (क्वालिफाइंग) रखी गई है, यह स्पर्धा नहीं होगी। प्रदेश में कुल 2,061 पदों के लिए हो रही भर्ती के लिए संबंधित क्षेत्र के एसडीएम की अध्यक्षता वाली कमेटी साक्षात्कार लेगी, कोई लिखित परीक्षा नहीं होगी। 

30 दिसंबर तक इन पदों के लिए आवेदन कर सकेंगे। उसके बाद एसडीएम की अध्यक्षता में अपने स्तर पर भर्ती प्रक्रिया की डेट तय करेगी। भर्ती के लिए कुल अंक 100 रखे गए हैं। इसमें 12वीं कक्षा के प्राप्त अंक के आधार पर 75 में से अंक मिलेंगे।12वीं में अगर 50 फीसदी अंक हैं तो 50 गुणा 0.75 = 37 अंक मिलेंगे। ईडब्ल्यूएस या बीपीएल के लिए 2 अंक, एससी, एसटी ओबीसी के लिए 2 अंक, एनसीसी, एनएसएस, भारत स्काउट एंड गाइडस के लिए 2 से 5 अंक, राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता के विजेता को 5 अंक, विधवा, एकल महिला को 3 अंक, सिंगल गर्ल चाइल्ड 3 अंक, एसडीएम कमेटी साक्षात्कार के 10 अंक मिलेंगे। आवेदन के लिए प्रदेश के किसी भी स्कूल से 12वीं पास होना अनिवार्य है और उम्र 18 से 25 साल के बीच होनी चाहिए। पुरुष आवेदक की लंबाई 165 सेंटीमीटर और महिला आवेदक की लंबाई 150 सेंटीमीटर होनी चाहिए।

प्रार्थना पत्र के साथ उम्र का प्रमाण पत्र, शिक्षा का प्रमाण पत्र, हिमाचली मूल निवासी प्रमाण पत्र लगाने होंगे। साक्षात्कार के समय सभी प्रमाण पत्र साथ लाने होंगे। आवेदन पत्र पर एक फोटो भी लगानी होगी।दो लोगों के बराबर अंक आए तो बड़ी उम्र वाले को प्राथमिकता मिलेगी। वन मित्र की तैनाती नजदीकी वन बीट में होगी और ट्रांसफर नहीं होगी। रोजाना न्यूनतम 6 घंटे काम करना होगा और 10 हजार रुपये मानदेय मिलेगा। एक महीने काम करने के बाद एक छुट्टी मिलेगी और साल में 12 छुट्टियां मिलेंगी। सभी सरकारी अवकाश, रविवार की छुट्टी मिलेगी। वन मित्र कभी नियमित नहीं होंगे हालांकि, सरकार नियमों में बदलाव कर सकती है। वन मित्रों को वनों का संरक्षण करना होगा, वन विकास में भागीदारी करनी होगी और स्थानीय लोगों को वन संरक्षण के प्रति जागरूक करना होगा।




Post a Comment

0 Comments

सीएम सुक्खू ने महिला सम्मान निधि योजना शुरू की