Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

छतरील माता मंदिर जौटा में धूमधाम से मनाया जाएगा 31 दिसंबर को वार्षिकोत्सव

                                हिमाचल प्रदेश को देवभूमि और देवनगरी के नाम से जाना जाता है 

ज्वाली,रिपोर्ट राजेश कतनौरिया 

हिमाचल प्रदेश को देवभूमि और देवनगरी के नाम से जाना जाता है यहां पर ऐसा कोई गांव और घर नहीं जिसमें देवी देवताओं के मंदिर ना हो ऐसा ही एक आस्था भरा मंदिर जवाली विधानसभा क्षेत्र के साथ लगते जौटा नामक स्थान पर एक उभरता हुआ धर्मस्थान है जिसे छतरील माता के नाम से जाना जाता है इस मंदिर में दूर-दूर से श्रद्धालु आते हैं, मन्नतें मांगते हैं और पूरी होते ही वाद्य यंत्रों सहित ध्वजारोहण करते हैं। 

भले ही यह मंदिर जौटा नामक स्थान की ऊंची पहाड़ी पर स्थित है  इसकी प्रसिद्धि बड़ी तेजी से हुई है। यहां बासंतिक और शारदीय नवरात्रों में भारी तादाद में लोग जुटते हैं। हर साल  31 दिसंबर और एक जनवरी को यहां वार्षिकोत्सव मनाया जाता है।  और मां छतरील के दरवार में जागरण, सत्संग और भंडारा लगता है। सुबह शाम आरती होती है। इसे लेकर यहां तैयारियां जोर शोर से शुरू कर दी गई है। यह पठानकोट मंडी राजमार्ग जौटा स्थान से दो किलोमीटर ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। और आज तक जो भी मां के दरवार में आया है उसकी मनोकामना अवश्य पूरी हुई।





Post a Comment

0 Comments

रोटरी क्लब के सहयोग से कृषि विश्वविद्यालय में रक्तदान शिविर का आयोजन