Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

हिमाचल प्रदेश की सुखविंद्र सिंह सुक्खू कैबिनेट में दो और मंत्रियों की एंट्री हो गई

                                  राजेश धर्माणी और यादविंद्र गोमा बने मंत्री, राजभवन में ली शपथ

शिमला,ब्यूरो रिपोर्ट 

हिमाचल प्रदेश की सुखविंद्र सिंह सुक्खू कैबिनेट में दो और मंत्रियों की एंट्री हो गई है। मंगलवार शाम को बिलासपुर से राजेश धर्माणी और कांगड़ा से यादविंद्र गोमा सुक्खू कैबिनेट में शामिल हुए। शाम करीब 4:45 बजे  राजभवन शिमला में राज्यपाल शिव प्रताप शुक्ल ने दोनों मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। इस मौके पर मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू, उपमुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री सहित मंत्री व अन्य गणमान्य लोग मौजूद रहे। भी मौजूद रहे। राजेश बिलासपुर से कांग्रेस के एकमात्र विधायक हैं। 

वह घुमारवीं विधानसभा से विधायक हैं। बीते एक साल से मंत्री पद का इंतजार बिलासपुर को था। देर रात ही यह फैसला हुआ और आज शपथ हुई। उनके मंत्रिमंडल में शामिल होने की सूचना से समर्थकों में खुशी की लहर है। मंगलवार सुबह घुमारवीं में राजेश धर्माणी के घर के बाहर कार्यकर्ता और कांग्रेस के पदाधिकारी बधाई देने के लिए पहुंचे। कांगड़ा के जयसिंहपुर से विधायक यादविंद्र गोमा को भी मंत्री बनाया गया है।बताया जा रहा है कि कुछ मंत्रियों के पोर्टफोलियो बदलने की भी तैयारी है। 

मिली जानकारी के मुताबिक, एक ब्राह्मण, एक राजपूत और एक अनुसूचित जाति चेहरे को मंत्री बनाने की तैयारी है। फिलहाल, दो ही मंत्री बनाए गए हैं। अनुसूचित जाति कोटे से कांगड़ा जिले के विधानसभा क्षेत्र जयसिंहपुर के विधायक यादवेंद्र गोमा पहला चुनाव 2012 में जीते थे। जबकि 2017 में चुनाव हारे। 2022 में दूसरा चुनाव जीते। उनके पिता मिल्खी राम गोमा तीन बार विधायक रहे हैं। बताया जा रहा है कि कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे की सिफारिश पर यादवेंद्र गोमा मंत्री बने हैं। क्योंकि राष्ट्रीय अध्यक्ष ने प्रदेश में अनुसूचित जाति कोटे से दो मंत्री बनाने की सिफारिश की थी।  वहीं, धर्मशाला से सुधीर शर्मा, ज्वालामुखी से संजय रतन और फतेहपुर से भवानी सिंह पठानिया तीनों में से किसी एक को बाद में मंत्री बनाया जा सकता है।



Post a Comment

0 Comments

प्रदेश में एक साल में पुलिस ने गाडिय़ों के चालान से सरकारी खजाना भर दिया