Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

जिला काँगड़ा में नौकरी से निकालने पर कोरोना वारियर्स में रोष

                    कोरोना काल में स्वास्थ्य विभाग में उन्होंने अपनी जान पर खेल कर लोगों को जान बचाई है

काँगड़ा,रिपोर्ट नेहा धीमान 

स्वास्थ्य विभाग में कोरोना काल में बेहतर सेवाएं देने वाले काेरोना वारियर्स की हालत यह है कि इन लोगों को अब दो वक्त की रोटी की चिंता सताने लगी है। कोरोना काल से तैनात ये कर्मी अपनी सेवाओं के लिए पूर्व भाजपा सरकार से भी सम्मान पा चुके है लेकिन अब इनको तीन माह पहले नौकरी से ही निकाल दिया गया है। यही नहीं इनको जुलाई से लेकर सितंबर तक तीन माह का वेतन भी नहीं मिली है। इससे स्वास्थ्य विभाग में तैनात रहे कर्मियों में रोष है। पालमपुर अस्पताल परिसर में आए इन कर्मियों ने सोमवार को सरकार के खिलाफ फिर रोष जाहिर किया है। 

एसोसिएशन के प्रधान वीर सिंह व सदस्य सुखवीर सिंह, इशान और अतुल की अगुवाई में काफी संख्या में नौकरी से निकाले गए इन कोरोना वारियर्स का कहना है कि कांग्रेस सरकार ने उनके साथ धोखा किया है। उनके लिए अच्छी नीति की बात करने वाली सरकार ने उन्हें नौकरी से ही निकाल दिया। चुनाव के समय कांग्रेस ने ही उनके लिए स्थायी नीति बनाने की बात कही थी लेकिन अब तो हालत यह है कि उन्हें तीन माह का वेतन भी नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में स्वास्थ्य विभाग में उन्होंने अपनी जान पर खेल कर लोगों को जान बचाई है। जब लोगों के रिश्तेदार भी कोरोना मरीज के पास नहीं आते थे तो वे ही इनकी सेवा करते थे। इसके लिए लोगों ने उनके गले में हार भी डाले थे और सरकार ने उन्हें सम्मानित भी किया था लेकिन कांग्रेस सरकार ने उन्हें बाहर निकाल दिया। सोचा कि सरकार उनके लिए कोई स्थायी नीति बनाएगी लेकिन इस सरकार ने कोई वादा नहीं निभाया। कहा कि उन्हें नौकरी पर नहीं रखा तो सरकार को आने वाले समय में इसका बड़ा खामियाजा भुगतना पड़ेगा।





Post a Comment

0 Comments

फिर शातिरों ने चली चाल एक युवक से तीन लाख की धोखाधड़ी