Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

'सरकार गांव के द्वार कार्यक्रम के तहत जोगिन्दर नगर की ढेलू पंचायत में आयोजित होगा शिविर

        2 फरवरी को शिक्षा मंत्री रोहित ठाकुर करेंगे अध्यक्षता, मौके पर जन समस्याओं की होगी सुनवाई 

जोगिंदर नगर,रिपोर्ट जतिन लटावा

प्रदेश सरकार के महत्वाकांक्षी कार्यक्रम 'सरकार गांव के द्वारÓ के तहत आगामी 2 फरवरी को जोगिन्दर नगर विधानसभा क्षेत्र की ग्राम पंचायत ढेलू में शिविर का आयोजन किया जा रहा है। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रदेश के शिक्षा मंत्री रोहित ठाकुर करेंगे। यह जानकारी आज यहां सरकार गांव के द्वार कार्यक्रम के सफल आयोजन को लेकर एसडीएम कार्यालय में आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए एसडीएम कृष्ण कुमार शर्मा ने दी।

एसडीएम ने कहा कि प्रदेश सरकार की जन कल्याणकारी नीतियों एवं योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने और लोगों की विभिन्न समस्याओं को उनके घर-द्वार सुलझाने के लिए सरकार गांव के द्वार कार्यक्रम आरंभ किया गया है। इस कार्यक्रम के माध्यम से जहां लोगों को प्रदेश सरकार की विभिन्न नीतियों, कार्यक्रमों व जन कल्याणकारी योजनाओं की विस्तृत जानकारी प्रदान की जा रही है तो वहीं जन-समस्याओं का भी निपटारा किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त शिक्षा मंत्री विभिन्न योजनाओं से लाभान्वित लाभार्थियों से भी संवाद स्थापित करेंगे।उन्होंने कहा कि सरकार गांव के द्वार शिविर में विभिन्न विभागों द्वारा जन कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी प्रदर्शित करते हुए प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी। इस प्रदर्शनी के माध्यम से जहां विभागीय उपलब्धियों को बताया जाएगा तो वहीं विभिन्न योजनाओं से संबंधित विस्तृत जानकारी भी लोगों को मुहैया करवाई जाएगी। उन्होंने सभी विभागों को सरकार की विभिन्न योजनाओं से लाभान्वित लोगों को चिन्हित कर शिविर में शामिल करने के भी निर्देश दिये।

एसडीएम ने कहा कि सरकार गांव के द्वार शिविर में ग्राम पंचायत ढेलू के अतिरिक्त आस-पास की अन्य पंचायतों को भी शामिल किया जाएगा ताकि इस शिविर का अधिक से अधिक लोग लाभ उठा सकें। उन्होंने कहा कि 31 जनवरी व 1 फरवरी को जन शिकायत निवारण शिविर लगाकर लोगों की समस्याओं का मौके पर ही निपटारा किया जाएगा। इसके लिए भी सभी विभागीय अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश जारी किये। साथ ही कहा लोग अपनी समस्याओं को सीएम संकल्प सेवा के माध्यम या फिर एसडीएम कार्यालय को भी प्रस्तुत कर सकते हैं जिनका संबंधित विभागों के माध्यम से निपटारा सुनिश्चित बनाया जाएगा।उन्होंने शिविर को सफल बनाने के लिए सभी विभागीय अधिकारियों से पूरे समन्वय के साथ कार्य करने के भी निर्देश दिये ताकि सरकार गांव के द्वार शिविर के निर्धारित लक्ष्य को पूरा किया जा सके। इसके अतिरिक्त उन्होंने सभी विभागों को पिछले एक वर्ष की विभागीय उपलब्धियों से जुड़ी विस्तृत जानकारी एसडीएम कार्यालय को उपलब्ध करवाने के भी निर्देश दिये।



Post a Comment

0 Comments

4 मार्च से ऊना-हरिद्वार ट्रेन सेवा शुरू होगी