Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

एक स्कूल को दे दिया बोर्ड ने 14 स्कूलों का कलेक्शन सेंटर

                                                    बोर्ड ने एक स्कूल को 14 स्कूलों के कलेक्शन सेंटर की जिम्मेदारी दी।

ऊना , ब्यूरो रिपोर्ट

हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड ने परीक्षा सामग्री के लिए कलेक्शन सेंटर बनाए हैं। इस कड़ी में 14 स्कूलों की परीक्षा सामग्री की सुरक्षा का जिम्मा है, जो पंजाब से सटे राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बसदेहड़ा पर है। बोर्ड ने कई स्कूलों में कलेक्शन केंद्रों को मर्ज किया है। 


केंद्र की देखभाल करने के लिए पर्याप्त स्टाफ की कमी का मुख्य कारण है. हालांकि, जिन स्कूलों में दूसरे स्कूलों के कलेक्शन सेंटर मर्ज कर दिए गए हैं, उन पर बोर्ड द्वारा बहुत सारा काम लगाया गया है, जिससे उन स्कूलों को कठिनाई हो रही है। जानकारी के अनुसार, कलेक्शन सेंटर दूसरे सेंटरों से आए उत्तर पुस्तिकाओं और विद्यालय के प्रश्न पत्रों को संभालता है। 


राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला देहलां, जो बोर्ड ने बनाया था, अब राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बसदेहडा में शामिल हो गया है। बसदेहड़ा स्कूल के कलेक्शन सेंटर को देहलां स्कूल से जोड़कर 15 स्कूलों का कलेक्शन सेंटर बनाया गया है। ऐसे कलेक्शन सेंटर को मर्ज करने का कारण अभी तक स्पष्ट नहीं हुआ है। हमारे स्कूल में रात को कोई सुरक्षाकर्मी नहीं है, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला देहला के प्राचार्य राकेश जसवाल ने बताया।  


स्कूल शिक्षा बोर्ड को इस समस्या से अवगत कराया गया था। हमारा कलेक्शन सेंटर बसदेहड़ा स्कूल में स्थानांतरित कर दिया गया है। बसदेहड़ा स्कूल के प्रधानाचार्य राजेंद्र सिंह ने कहा कि देहलां स्कूल के कलेक्शन सेंटर को हमारे सेंटर में मर्ज करने से स्कूलों की संख्या 14 हो गई है। इसके अलावा बिलासपुर जिले के नैहला में भी एक स्कूल है। पेपर सामग्री प्राप्त करने और उनका हिसाब रखने के लिए कर्मचारियों की भी आवश्यकता होती है। जबकि कुछ कर्मचारी पहले से ही बोर्ड ड्यूटी पर तैनात हैं, वहीं कुछ पद खाली पड़े हैं। इसलिए चौबीस स्कूलों का हिसाब रखना मुश्किल है। इस मामले में बोर्ड को उचित कदम उठाना चाहिए।


Post a Comment

0 Comments

सतलुज दरिया के तेज बहाव में एक बच्ची हुई दुर्घटना की शिकार