Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

भूस्खलन से जगतसुख के नागनी नाला में ढाई मंजिला मकान गिरा

                                    जगतसुख के नागनी नाला में भूस्खलन से ढाई मंजिला मकान जमींदोज, मलबे में गाय सहित 18 कुत्ते भी दबे

कुल्लू , ब्यूरो रिपोर्ट 

हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले के उपमंडल मनाली के जगतसुख में भूस्खलन से एक ढाई मंजिला मकान ढह गया है। आधी रात को हुए भूस्खलन में एक गाय सहित 18 कुत्ते मर गए। पति-पत्नी घर में सुरक्षित हैं। मलबे को निकाल दिया जा रहा है। छह कुत्ते जीवित निकाले गए। बचाव अभियान चल रहा है। 


हरिपुर मनाली निवासी नवदीप सिंह पुत्र सतगुरु सिंह ने बताया कि वह शिक्षा विभाग से नियुक्त हुए हैं। गायत्री, उनकी पुत्री, जगतसुख के नागनी नाले में एक ढाई मंजिला मकान किराये पर लिया है। यहां गायत्री एक एनजीओ चलाती हैं और जानवरों का बचाव सेंटर चलाती हैं। नवदीप ने बताया कि वह अपनी पत्नी और बेटी के साथ जगतसुख में रहता है। घर में एक गाय और चौबीस कुत्ते भी थे। रात को जब वे सो रहे थे, एक भयानक धमाका हुआ। 


यह लगता है कि भूकंप हुआ है। लेकिन उठकर देखा कि घर में पहाड़ी में हुए भूस्खलन का मलबा था। भूस्खलन ने घर को पूरी तरह से नष्ट कर दिया। भूस्खलन से 18 कुत्ते और एक गाय मर गए। मलबे में घर का सारा सामान भी दब गया। भूस्खलन से लगभग सत्तर लाख रुपये की क्षति हुई है। भूस्खलन का मलबा भनारा गांव के इंद्रदेव के बागीचे में पहुँचने से 20 सेब के पेड़ क्षतिग्रस्त हुए हैं। गाय और पालतु कुत्ते भूस्खलन से मलबे में दबे हैं, एसडीएम मनाली रमन कुमार शर्मा ने बताया। राजस्व विभाग घाटा माप रहा है। पुलिस टीम भी स्थान पर है। कुत्तों को मलबा से निकाला जा रहा है।







Post a Comment

0 Comments