Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

आदर्श आचार संहिता उल्लंघन पर भाजपा और माकपा का निर्वाचन अधिकारी को ज्ञापन सौंपा

                                    भाजपा और माकपा ने निर्वाचन अधिकारी को आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप लगाया

शिमला , ब्यूरो रिपोर्ट 

भाजपा विधायकों के साथ नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर ने राज्य सरकार की इंदिरा गांधी प्यारी बहना सुख सम्मान निधि के फॉर्म भरने की प्रक्रिया को तुरंत रोकने के लिए मुख्य निर्वाचन अधिकारी मनीष गर्ग को एक पत्र भेजा। जयराम ठाकुर ने कहा कि इस बार के लोकसभा चुनाव में भी कांग्रेस प्रदेश की मातृशक्ति को ठगने की कोशिश कर रही है, जैसा कि विधानसभा चुनाव में हुआ था।


विधानसभा में कांग्रेस के नेताओं ने 18 से 60 वर्ष की महिलाओं को हर महीने 1,500 रुपये देने का वादा किया और फॉर्म भरवा लिए। जब सरकार बन गई, तो सभी चुपचाप बैठे रहे। कांग्रेस ने मुख्यमंत्री सुक्खू और पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के चित्रों को फिर से प्रदेश की महिलाओं से लोकसभा चुनाव आचार संहिता के दौरान भरवाया है। एक बार फिर से चुनाव में मातृ शक्ति को धोखा देने की कोशिश की जा रही है। 


उन्हें लगता है कि यह चुनाव आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है, इसलिए वे चुनाव आयोग से इसे तुरंत रोकने की मांग करते हैं। जयराम ठाकुर ने कहा कि कांग्रेस खुलेआम आचार संहिता तोड़ रही है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी से लिखित शिकायत करते हुए फॉर्म भरवाने पर रोक लगाने की मांग की है। माकपा नेताओं ने भी मुख्य निर्वाचन अधिकारी को विभिन्न मुद्दों को लेकर एक पत्र भेजा। मुख्यमंत्री सुक्खू ने भी सोशल मीडिया पर भाजपा पर हमला बोला। 


अपने सोशल मीडिया खाते पर एक पोस्ट में उन्होंने कहा कि भाजपा एक 'काम रोको' पार्टी बन गई है। राजस्थान में सरकार बनते ही ओपीएस को बंद कर दिया गया। हिमाचल प्रदेश में ओपीएस को रोकने के लिए सरकार को गिरा देने की कोशिश की। अब माताओं-बहनों को आर्थिक सहायता से वंचित करने की कठोर कोशिश हो रही है। हिमाचल प्रदेश में धन फेंको, सरकार गिराओ, काम रोको की संस्कृति नहीं चलेगी।


Post a Comment

0 Comments

दोनों तरफ की नालियों का पानी आरसीसी पाइप से सीर खड्ड तक पहुंचेगा