Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

पांच पंचायतों के जनप्रतिनिधियों-ग्रामीणों ने चेताया, नहीं लगने देंगे प्रोजेक्ट

                                                           गुनाल हाइड्रो प्रोजेक्ट के खिलाफ प्रदर्शन

कुल्लू,ब्यूरो रिपोर्ट 

ऊझी घाटी के शिल्ह में 1.5 मेगावाट के गुनाल हाइड्रो प्रोजेक्ट के विरोध में लोगों ने एक बार फिर आवाज उठाई है। ग्रामीणों ने विद्युत परियोजना का विरोध करते हुए एक स्वर में कहा कि डेढ़ मेगावाट के इस प्रोजेक्ट को किसी भी कीमत पर नहीं बनने देंगे। अगर प्रोजेक्ट को लगाने की कोशिश की गई तो चार पंचायतों के लोग लोकसभा चुनाव का बहिष्कार करने से भी पीछे नहीं हटेंगे।

वीरवार को विद्युत परियोजना के विरोध में शिरढ़ गांव के नागनी मंदिर के पास लोगों और जनप्रतिनिधियों ने पहले बैठक की। इसके बाद धरना-प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शन में चार पंचायतों बैंची, रायसन, शिरढ़ और देवगढ़ के जनप्रतिनिधि भी शामिल रहे। बैंची पंचायत के प्रधान जोगिंद्र मेहरा ने कहा कि चार पंचायतों के लोग इस विद्युत परियोजना का लगभग 2 साल से विरोध कर रहे हैं। जिला प्रशासन को भी कई बार अवगत करवाया गया है लेकिन प्रशासन के अधिकारी भी समस्या का समाधान नहीं निकाल रहे हैं। इसके चलते स्थानीय लोगों में प्रशासन और सरकार के प्रति रोष पनपता जा रहा है।

उन्होंने कहा कि विद्युत परियोजना लगने से यहां पर लोगों की सैकड़ों बीघा भूमि और सेब के बगीचों में सिंचाई के लिए पानी की कमी होगी। इस नाले में पीने के पानी के स्रोत हैं। जहां पर विद्युत परियोजना का कार्य हो रहा है वहां देवी-देवताओं के पवित्र स्रोत भी है। परियोजना से लोगों की देवआस्था पर चोट पहुंचेगी। उन्होंने कहा कि उपायुक्त को ज्ञापन भी प्रेषित किया गया है, जिसमें लोगों की ओर से स्पष्ट किया गया है कि अगर समय रहते इस परियोजना को बंद नहीं किया गया तो चार पंचायतों के लोग लोस चुनाव का बहिष्कार करेंगे।





Post a Comment

0 Comments

भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष करेंगे प्रदेश भर में तीन चुनावी रैलियां