Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

शिक्षकों की अनुपस्थिति, बच्चों का स्कूल जाना मुश्किल, ताले में फंसी शिक्षा

                                बच्चे स्कूल पहुंचे, शिक्षक नहीं हैं, ताला दो दिन से लटका है

मंडी, ब्यूरो रिपोर्ट 

जिला मंडी में स्कूलों ने नया पाठ्यक्रम शुरू किया है। वर्तमान में बालीचौकी क्षेत्र के राजकीय प्राथमिक पाठशाला सलोट में एक शिक्षक नहीं है। बच्चे दो दिन से स्कूल में पहुंच रहे हैं, लेकिन शिक्षक को कुछ पता नहीं है। 



ऐसे में बच्चों को दो दिनों वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला के शिक्षक ही देख रहे हैं। अभिभावकों को दो दिनों तक स्कूल में कोई शिक्षक नहीं मिलने से बहुत गुस्सा आया है। उन्होंने विभाग से रोष जताते हुए कहा कि उनके बच्चों की पढ़ाई और सुरक्षा के लिए कौन जिम्मेदार है? साथ ही बच्चों को दो दिनों के भीतर स्कूल से निकाल दिया जाएगा अगर नियमित शिक्षक नहीं मिलता। 


यह स्कूल पिछले कुछ समय से प्रतिनियुक्ति पर चलाया जा रहा है और इसमें कोई स्थायी शिक्षक नहीं है। विद्यालय में 26 बच्चे पढ़ रहे हैं, लेकिन पिछले दो दिनों से एक भी शिक्षक नहीं आया है, जैसा कि अभिभावकों वेद राम, तेज राम और लेद राम ने बताया। इसलिए उन्हें अपने बच्चों की सुरक्षा की चिंता है। पाठशाला में बच्चों की देखभाल और सुरक्षा के लिए कौन जिम्मेदार है ।  उधर, एसएमसी अध्यक्ष तेज राम ने कहा कि नया शैक्षणिक सत्र शुरू हो गया है। 


नए सत्र में स्कूल में पढ़ाई से जुड़े कई कार्यों को कोई नहीं करता है। पाठशाला में स्थायी शिक्षक नहीं होने के कारण बच्चों की पढ़ाई भी अच्छी तरह नहीं चल रही है। उनकी मांग है कि विभाग जल्द से जल्द स्थायी शिक्षक नियुक्त करे। साथ ही उन्होंने चेताया कि लोग शिक्षा विभाग के खिलाफ आंदोलन करने के लिए मजबूर होंगे अगर जल्द ही स्थायी शिक्षक नियुक्त नहीं किए जाएंगे। एक शिक्षक पाठशाला से चला गया है। अब शारटी प्राथमिक स्कूल से एक शिक्षक इस कार्यक्रम में प्रतिनियुक्ति पर भेजा गया है।


Post a Comment

0 Comments

टकारला में खेत में पड़ा पशुचारा (तूड़ी) जलकर राख