Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

जिला चम्बा में 67 किमी में से 52 किमी मार्ग से हटाई बर्फ, 15 किलोमीटर रहा शेष

                                                          साच पास 15 जून तक हो सकता है बहाल

चम्बा,ब्यूरो रिपोर्ट 

बैरागढ़-साचपास-किलाड़ मार्ग पर अब महज 15 किलोमीटर मार्ग से ही बर्फ हटाना शेष रह गई है। चुराह के बैरागढ़-साच-पास-किलाड़ मार्ग पर पांगी लोक निर्माण विभाग 67 किलोमीटर से बर्फ हटाता है। उसमें से अब तक 52 किलोमीटर बर्फ हटाई जा चुकी है। लिहाजा, अब मार्ग से 15 किलोमीटर तक बर्फ हटाना शेष रहा है। 

मार्ग से बर्फ हटने के बाद जनजातीय क्षेत्र पांगी के लोगों को जिला मुख्यालय पहुंचने के लिए 650 से 700 किलोमीटर का सफर तय कर वाया जेएंडके, मनाली, पंजाब होकर चंबा नहीं पहुंचना पड़ेगा। सूत्रों के मुताबिक 15 जून से पहले विभागीय टीमें मार्ग को यातायात के लिए बहाल करने के लक्ष्य को लेकर युद्धस्तर पर कार्य में जुटी हुई हैं।समुद्रतल से 14,500 फुट की ऊंचाई पर स्थित साच पास को यातायात के लिए बहाल करने में पांगी लोक निर्माण युद्धस्तर पर जुटा हुआ है। वहीं, चुराह की तरह सतरूंडी से ऊपर मशीनें साच-पास की ओर बढ़ चुकी हैं। चुराह की तरह से महज छह किलोमीटर साच-पास तक बर्फ हटाना शेष रह चुकी है। वहीं, किलाड़ की तरफ से बगोटू से साच-पास की तरह नौ किलोमीटर बर्फ हटाना ही शेष रह चुकी है। पांगी लोक निर्माण विभाग का लक्ष्य 15 जून तक मार्ग बहाली का लक्ष्य है।


 पिछले वर्ष तीन जुलाई को साच-पास बहाल हुआ था। मार्ग बहाल हो जाने से चंबा से वाया साच पास किलाड़ की दूरी करीब 172 किलोमीटर रहती है। जबकि, किलाड़ से वाया मनाली यही दूरी करीब 650 किलोमीटर और वाया जम्मू करीब सात सौ किलोमीटर है। मार्ग बहाल होने पर पांगी घाटी के लोगों को वाया साच पास होते हुए जिला मुख्यालय चंबा पहुंचने की सुविधा मिलती है। उधर, लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता दिनेश कुमार ने बताया कि बैरागढ़-साचपास-किलाड़ मार्ग यातायात के लिए बहाल करने के लिए विभागीय टीमें और मशीनरी जुटी हुई हैं। अब महज 15 किलोमीटर मार्ग से बर्फ हटाना ही शेष बचा है। बताया कि विभाग का लक्ष्य जल्द मार्ग बहाल करवाकर लोगों को राहत प्रदान करने का है।



Post a Comment

0 Comments

पालमपुर की बेटी प्रणवी सूद ने किया जिले का नाम गर्व से ऊँचा