Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

पुर्थी-थांदल सड़क का डेढ़ सौ मीटर हिस्सा हो चुका है क्षतिग्रस्त

                                               सड़क की दशा न सुधारी तो कोई नहीं करेगा मतदान

पांगी,ब्यूरो रिपोर्ट 

पुर्थी से थांदल सड़क का डेढ़ सौ मीटर क्षतिग्रस्त हिस्से की समयानुसार मरम्मत न होने से खिन्न ग्रामीणों ने विरोध का अनोखा तरीका अपनाते हुए वाहन का खाली टायर खस्ताहाल सड़क पर चलाकर विरोध जताया। ग्रामीणों ने चेताया कि लोकसभा चुनाव के तहत एक जून तक सड़क ही दशा को सुधारा नहीं गया तो कोई भी ग्रामीण मतदान नहीं करेगा।

इसकी पूरी जिम्मेदारी पांगी प्रशासन और लोक निर्माण विभाग की रहेगी। इसके लिए बाकायदा ग्रामीणों ने उपमंडलाधिकारी पांगी रमन घरसंघी को ज्ञापन भी सौंप दिया है। ग्रामीणों ने साफ किया है कि जनजातीय क्षेत्र पांगी की पंचायतों के गांवों में भी लोग रहते हैं लेकिन, पांगीवासियों का महज वोट बैंक के तहत ही यूज किया जाता रहा है।ग्रामीणों प्यारेलाल, परस राम, सुरेंद्र, बिश्वंबर, रामनाथ, शांति देवी, गंगाराम, गोविंद, देवी सिंह, लालचंद, कुलदीप, गुरुदेव, चुन्नीलाल और हरीश कुमार ने बताया कि जनजातीय क्षेत्र पांगी की ग्राम पंचायत पुर्थी से थांदल गांव को जोड़ने वाली सड़क का पिछले तीन माह पहले भारी भूस्खलन के चलते करीब डेढ़ सौ मीटर हिस्सा क्षतिग्रस्त हुआ है। भूस्खलन की चपेट में तीन मकान भी आए हुए हैं। 

भूस्खलन से तीनों घरों की दीवारों में काफी दरारें आई हुई हैं। इस संबंध में कई बार गांववासी लोक निर्माण विभाग को सड़क और पक्के डंगे लगाने की मांग कर चुके हैं लेकिन, विभाग की ओर से इस पर कोई कड़ा संज्ञान नहीं लिया गया है। इसको लेकर गांववासियों ने सड़क पर खाली टायर चलाकर अनोखा प्रदर्शन किया। वहीं, शुक्रवार को गांववासियों ने उपमंडल दंडाधिकारी पांगी रमन घरसंघी को ज्ञापन कर चेताया कि एक जून से पहले सड़क की हालत ठीक न होने पर वे लोकसभा चुनाव का बहिष्कार करेंगे। ग्रामीणों का कहना है कि क्षतिग्रस्त सड़क होने की सूरत में गांव में एकाएक किसी के बीमार हो जाने पर उसे अस्पताल तक पहुंचाना उनके लिए चुनौतीपूर्ण बन जाता है।एसडीएम पांगी रमन घरसंगी ने बताया कि शुक्रवार को ग्रामीणों ने सड़क को बहाल करने को लेकर ज्ञापन सौंपा है। इस संबंध में लोक निर्माण विभाग के अधिकारी को आदेश जारी कर दिए गए हैं और तुरंत सड़क को बहाल करने का कार्य शुरू किया जाएगा।





Post a Comment

0 Comments

आखिर क्यों राशन डिपुओं से हुई चीनी गायब