Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

ग्रामीणों की घासनियों समेत नगदी फसलों को भी नुकसान

                                                 चार दिन से धधक रहा चायल क्षेत्र का बखोर जंगल

सोलन,ब्यूरो रिपोर्ट 

 पर्यटन नगरी चायल का बखोर जंगल पिछले चार दिनों से जल रहा है। अभी तक आग पर काबू नहीं पाया जा सका है। स्थानीय लोगों समेत वन विभाग की टीम मौके पर पहुंचकर आग पर काबू पाने का प्रयास कर रही हैं। लोगों की घासनियों समेत नगदी फसलों का लाखों का नुकसान हो गया है। वहीं वन विभाग की टीम भी आग से हुए नुकसान का आंकलन कर रही है।

जानकारी के अनुसार चामलू गांव के रमेश ने बताया गांव के 12 लोग बुधवार रात को आग बुझाने के लिए गए थे, जिसके बाद उन्होंने अपने घर, घासनियों और खेतों में लगी नगदी फसलों को तो बचा लिया लेकिन चौथे दिन ग्राम पंचायत झाझा के खड़ेन जंगल में आग प्रवेश कर गई। जिसमें बहुत से जंगली जानवर और जीव जंतु भी आग की भेंट चढ़ गए। यह जंगल रिजर्व फॉरेस्ट क्षेत्र में आता है। वन्य जीव प्राणी विभाग चायल के डिप्टी रेंजर विजय शर्मा बीट गार्ड सहित कई कर्मचारी आग बुझाने पहुंचे। वन विभाग चायल के ब्लॉक ऑफिसर गीतानंद अपने विभाग के कर्मचारियों के साथ झाझा गांव के कई लोग भी आग बुझाने पहुंचे। आग लगने का क्रम जारी था।वन परिक्षेत्र चायल के अनिल ठाकुर ने आग लगने की पुष्टि की है। आग से हुए नुकसान का अभी तक आंकलन नहीं किया गया है।





Post a Comment

0 Comments

पालमपुर की बेटी प्रणवी सूद ने किया जिले का नाम गर्व से ऊँचा