Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

आशीष बुटेल के राजनीतिक प्रहार पर प्रवीन कुमार का पलट वार जव प्रदेश में आपदा आई थी तो किशन कपूर एम्स में उपचाराधीन थे

   गत वर्ष जव प्रदेश में प्राकृतिक आपदा आई तो किशन कपूर दिल्ली के एम्स होस्पीटल में उपचाराधीन थे

पालमपुर,ब्यूरो रिपोर्ट 

पालमपुर के विधायक एवं प्रदेश सरकार में मुख्य संसदीय सचिव के पद पर विराजमान श्री आशीष बुटेल जी द्वारा सांसद किशन कपूर पर किये राजनैतिक हमले का जवाब देते हुए पालमपुर के पूर्व विधायक प्रवीन कुमार ने कहा कि गत वर्ष जव प्रदेश में प्राकृतिक आपदा आई तो किशन कपूर जी दिल्ली के एम्स होस्पीटल में उपचाराधीन थे । पूर्व विधायक ने श्री आशीष बुटेल जी से कहा खैर राजनीति अपनी जगह लेकिन गत लम्बे समय से श्री किशन कपूर जी अस्वस्थ चल रह थे उनकी बेहद जटिल शल्य चिकित्सा अर्थात मेजर आपरेशन  हुआ इनका खाना पीना तक छूट गया था  कुल मिलाकर जाको राखे सांईयां मार सके न कोए । 

फिर भी थोड़ा स्वस्थ होने पर जहाँ उन्होंने उचित समझा परिवार व चिकित्सकों द्वारा मना करने के बावजूद भी वहाँ गये ओर प्रभावितों की मदद की ।  पूर्व विधायक ने आशीष बुटेल को आडे हाथों लेते हुए कहा आखिर किशन कपूर जी हम सभी के सांसद  रहे क्या शिष्टाचार के नाते कभी आपने उनका कुशलक्षेम जाना ।  पूर्व विधायक ने आशीष बुटेल जी को समरण करवाया जव हर कोई राजनैतिज्ञ पालमपुर के किसी मंच पर भाषण देता है तो सबसे पहले पालमपुर को शहीदों की भूमि की संज्ञा देकर मेजर सोमनाथ , कैप्टन  विक्रम बतरा , कैप्टन सौरभ कालिया ,  मेजर सुधीर  वालिया जी को नमन करते हैं।  ऎसे में जहाँ बतौर सांसद श्री शान्ता कुमार जी ने सौरभ वन विहार बनाया उसी तर्ज पर विन्द्रावन में भी विक्रम बतरा वन विहार व डाढ में भी मेजर सोमनाथ जी के पैतृक गाँव डाढ में वन विहार श्री किशन कपूर जी  के सहयोग से ही बनने जा रहा है। यही नहीं आज हिमाचल प्रदेश में जिस श्री शान्ता कुमार जी की महत्वाकांक्षी योजना वन लगाऒ रोजी कमाओ के तहत जंगलों में हरित क्रांति आई है।  बिक्रम बतरा राजकीय महाविद्यालय की ओर जाने वाले मार्ग  पर स्थित उस नींव स्थल का जीर्णोद्धार व दराटी पंचायत में भयभुंजनी गढ माता मन्दिर के साथ सौरभ कालिया नव ग्रह वाटिका का सौन्दर्य करण भी श्री किशन कपूर जी की सांसद निधि से ही प्रस्तावित है।





Post a Comment

0 Comments

पालमपुर की बेटी प्रणवी सूद ने किया जिले का नाम गर्व से ऊँचा