Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

शरारती तत्वों ने टिपर को लगाई आग

                                                         टायर फटने से हुआ जोर का धमाका

काँगड़ा,ब्यूरो रिपोर्ट 

अपर लंबागांव में मंगलवार देर रात शरारती तत्वों ने अपर लंबागांव से सरालपट की ओर जाने वाली सड़क के किनारे खड़े टिपर को जलाने की कोशिश की। टिपर के पिछले भाग में आग लगी और टायर के फटने से जोर का धमाका हुआ। स्थानीय लोगों की मुस्तैदी से बड़ा नुकसान टल गया। इसी सड़क पर वाहनों का जलाने की चार वारदातें सामने आ चुकी हैं। बार-बार गाड़ियों को जलाने वाला गिरोह अभी तक पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ पाने से लंबागांव पुलिस की कार्यप्रणाली पर प्रश्न चिह्न लग रहा है। 

लोगों में भी इन बढ़ती वारदातों से रोष है।क्षेत्र में दहशत का माहौल बना हुआ है। मंगलवार शाम सोल बनेहड़ निवासी मुकेश कुमार जो कि कंगेहण निवासी अनिल शर्मा का टिपर चलाता है ने रोजाना की तरह अपने टिपर को अपने घर के साथ जाने वाली अपर लंबागांव सरालपट सड़क किनारे खड़ा किया था। शरारती तत्वों ने रात साढ़े ग्यारह बजे टिपर के पिछले भाग में आग लगा दी। टिपर को आग लगाने के बाद जैसे ही उसके पिछले टायरों के फटने से धमाका हुआ तो कुछ ही दूरी पर किराये के मकान में रह रहे प्रवासी उठ गए और घटनास्थल की ओर भागे। उन्होंने सड़क किनारे खड़े किए गए टिपर से आग की लपटें निकलती देखीं तो शोर मचाना शुरू कर दिया। उनके शोर मचाने पर आसपास के लोग भी वहां आ गए और आग बुझाने में लग गए। काफी मशक्कत के बाद लोगों द्वारा आग पर काबू पा लिया गया, लेकिन तब तक टिपर का पिछला हिस्सा जल चुका था।

लंबागांव पुलिस ने इस संबंध में मामला दर्ज करके सीसीटीवी की फुटेज को खंगालना आरंभ कर दिया है। मामले की पुष्टि लंबागांव पुलिस थाना के एसएचओ प्रेमपाल शर्मा ने की है। उन्होंने कहा कि पुलिस मामले की जांच कर रही है।23 जुलाई 2023 की रात भी इसी सड़क पर दो स्कूटियों और एक मोटरसाइकिल को जला दिया था।24 नवंबर 2023 की रात इसी सड़क पर सड़क किनारे खड़े किए गए एक जीप ट्राले को जलाने की कोशिश की गई। यह सिलसिला यहीं नहीं रुका।31 दिसंबर की रात को इसी सड़क पर अपर लंबागांव स्कूल के साथ बनी दुकानों के बाहर सड़क किनारे खड़ी की गई स्कूटी को जलाने की कोशिश की गई थी।18 जनवरी की रात को इसी सड़क के किनारे के सोलर लाइट को भी शरारती तत्वों ने जला दिया गया, लेकिन पुलिस अभी तक अपराधियों तक नहीं पहुंच पाई है।




Post a Comment

0 Comments

आशीष बुटेल के राजनीतिक प्रहार पर प्रवीन कुमार का पलट वार जव प्रदेश में आपदा आई थी तो किशन कपूर एम्स में उपचाराधीन थे