Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

राजधानी शिमला में ट्रक के टायर के नीचे आने से एक प्रवासी मजदूर की मौ#त

                                                             शिमला में ट्रक के नीचे आया प्रवासी मजदूर

शिमला,ब्यूरो रिपोर्ट 

राजधानी शिमला में ट्रक के टायर के नीचे आने से एक प्रवासी मजदूर की मौत हो गई। ओहदेश साहनी (48) पुत्र हरिहर गांव डूमरी, तहसील भटहट, जिला गोरखपुर निवासी उत्तरप्रदेश का रहने वाला था। ओहदेश चार माह से ढली में मजदूरी करके आजीविका कमा रहा था। यहां पर बुआ के बेटे के साथ किराये के कमरे में रहता था। प्रारंभिक जांच के मुताबिक ओहदेश सड़क किनारे आवाजाही करते वक्त ट्रक की चपेट में आ गया। पुलिस अधिकारियों ने भी घटनास्थल पर निरीक्षण किया है।

पुलिस के मुताबिक घटना बुधवार सुबह 11 बजे ढली थाना क्षेत्र की है। ढली-आईएसबीटी राष्ट्रीय राजमार्ग पर ट्रक भट्ठाकुफर की तरफ जा रहा था। इसी दौरान यह हादसा पेश आया। बताया जा रहा है कि ढली- संजौली टनल के नजदीक ट्रक की चपेट में आने से व्यक्ति सड़क पर गिर गया। इस बीच व्यक्ति ट्रक के टायरों के नीचे आ गया। अस्पताल ले जाने पर चिकित्सकों ने इसे मृत घोषित किया।सूचना मिलने पर पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण कर साक्ष्य एकत्रित किए है। इसके बाद ट्रक चालक कुलविंदर सिंह नालागढ़ (सोलन) निवासी को हिरासत में लिया है। इसके अलावा ट्रक को भी कब्जे में लिया है। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है। प्रशासन ने भी हादसे में मृतक के परिजनों को 25 हजार की फौरी राहत प्रदान की है।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रतन नेगी ने बताया कि हादसे के कारणों की छानबीन जारी है।राजधानी में पहले भी इस तरह के हादसे हो चुके हैं। 20 अप्रैल को मशोबरा में एचआरटीसी की इलेक्ट्रिक बस के टायरों के नीचे आने से आईजीएमसी में तैनात वार्ड सिस्टर की मौत हो गई थी। 12 अप्रैल को पुराने बस अड्डे में एचआरटीसी बस के बीच आने एक महिला राधा देवी (48) निवासी धारली कोटी तहसील जुन्गा शिमला ग्रामीण निवासी की मौत हो गई थी। इससे पहले, 5 अप्रैल को उच्च न्यायालय की सरकारी गाड़ी के नीचे आने से तीन वर्षीय मासूम बच्ची की मौत हो गई थी। 2019 को सदर थाना के भराड़ी इलाके में एक पिकअप ने सड़क किनारे सो रही नौ माह की बच्ची को कुचल दिया था। इसके अलावा 2023 में भी पुराने बस स्टैंड और क्रॉसिंग के पास भी बसों की चपेट में आने से दो राहगीरों की मौत हुई थी।





Post a Comment

0 Comments

आशीष बुटेल के राजनीतिक प्रहार पर प्रवीन कुमार का पलट वार जव प्रदेश में आपदा आई थी तो किशन कपूर एम्स में उपचाराधीन थे