Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

दुनिया में कदम रखने से पहले ही गर्भ में पल रहे एक बच्चे की मौ#त

                                दान दी जमीन, फिर भी सड़क न बनने से पत्नी के गर्भ में ही खो दिया बच्चा

चम्बा,ब्यूरो रिपोर्ट 

सड़क न होने के कारण इस दुनिया में कदम रखने से पहले ही गर्भ में पल रहे एक बच्चे की मौत हो गई। यह घटना विधानसभा क्षेत्र चंबा की बख्तपुर पंचायत में सामने आई है।इस सड़क को बनाने के लिए डेढ़ साल पहले जिस व्यक्ति ने चार बिस्वा जमीन दान की थी, उसकी की पत्नी के गर्भ में पल रहे बच्चे की सड़क के अभाव में जान चली गई। यह घटना दो दिन पहले की है। सुनील कुमार ने बताया कि उनकी पत्नी बिंदी देवी की प्रसव पीड़ा शुरू तो अस्पताल पहुंचाने के लिए महिला को चार किलोमीटर तक पीठ पर उठाकर खड़ी उतराई में लेकर जाना पड़ा। 


इसके बाद गर्भवती को निजी वाहन से चंबा मेडिकल कॉलेज पहुंचाया गया, लेकिन अस्पताल पहुंचाते ही डॉक्टरों ने थोड़ी देर होने की बात कही। इस कारण गर्भ में पल रहे उनके बच्चे की मौत हो गई। उन्होंने कहा कि परिवार के सभी लोग घर में किलकारियां गूंजने की आस में बेहद खुश थे, लेकिन सड़क के अभाव ने उनकी खुशियों को आंसुओं में बदल दिया। नवजात के शव के साथ पत्नी को दोबारा पीठ पर उठाकर चार किलोमीटर दूर गांव तक पहुंचाना पड़ा। विभाग का कहना है कि ठेकेदार को 500 मीटर सड़क का कार्य सौंपा गया था। 430 मीटर तक सड़क बना दी गई है। बचे हुए कार्य को शीघ्र पूरा करने के ठेकेदार को निर्देश दिए हैं। एक किलोमीटर सड़क बनाने के लिए एफआरए की अनुमति चुकी है। 

आचार संहिता के बांद इस कार्य की टेंडर प्रक्रिया शुरू की जाएगी।उधर, सुनील ने बताया कि डेढ़ वर्ष पहले उनके गांव के लिए सड़क का कार्य शुरू हुआ था तो उन्होंने चार बिस्वा निजी भूमि लोक निर्माण विभाग के नाम की थी। इस सड़क का कार्य पिछले कई दिन से बंद पड़ा है। इसको लेकर ग्रामीण चंबा सदर के विधायक नीरज नैय्यर से भी मिल चुके हैं, लेकिन उन्होंने भी सड़क का काम शुरू करवाने में गंभीरता नहीं दिखाई। ग्रामीणों में डुमणी देवी, मनीष कुमार, ज्ञानो, मनोज कुमार और राकेश ने बताया कि यदि चुनाव से पहले उनके गांव के लिए सड़क का कार्य शुरू नहीं गया तो सभी ग्रामीण लोकसभा चुनाव का बहिष्कार कर देंगे।




Post a Comment

0 Comments

टकारला में खेत में पड़ा पशुचारा (तूड़ी) जलकर राख