Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

बनीखेत में चार होटलों के पास पहुंची आग

                                                      डलहौजी में पीडब्ल्यूडी कॉलोनी, घर बचाए

चम्बा,ब्यूरो रिपोर्ट 

 पर्यटन नगरी डलहौजी के आसपास के जंगल आग से दहक रहे हैं। शरारती तत्व जंगलों को आग के हवाले कर रहे हैं।इस कारण बेशकीमती वन संपदा आग में जलकर राख हो रही है। वीरवार रात को नौ बजे भरेरा स्थित जंगल में शरारती तत्वों ने आग लगा दी। देखते ही देखते आग ने भयंकर रूप धारण कर लिया। जंगल की आग से कथलग मार्ग के समीप स्थित लोक निर्माण विभाग की कॉलोनी और घर आग की चपेट में आने से बच गए।

 उधर, वीरवार रात को बनीखेत स्थित सुरखीगला के जंगल में लगी भीषण आग की चपेट में आने से चार होटल बच गए। आग इन होटलों के काफी करीब तक पहुंच गई थी। समय रहते फायर ब्रिगेड को सूचना मिलने पर दमकल कर्मियों ने आग पर काबू पाया।डलहौजी में ग्रामीणों ने तेजी से फैल रही जंगल की आग के बारे में एसडीएम डलहौजी और दमकल विभाग को सूचना दी। सूचना मिलने के बाद एसडीएम,तहसीलदार, एसएचओ, दमकल विभाग के जवान, जलशक्ति विभाग और नगर परिषद के कर्मियों समेत स्थानीय निवासी मौके पर पहुंचे और जंगल की आग को बुझाने में जुट गए। देररात को आग पर काबू पाया जा सका। कथलग रोड के समीप लोक निर्माण विभाग की कॉलोनी और घर राख के ढेर में तब्दील होते-होते बचे।

 बीते दिनों भी जंगल की आग सिविल अस्पताल डलहौजी के प्रागंण तक पहुंच गई थी। अस्पताल का वार्ड धुएं से भर गया था। मरीजों में अफरा-तफरी मचने के बाद उन्हें शिफ्ट करना पड़ा था। इसके बाद लोक निर्माण विभाग के मंडल कार्यालय का भवन जलने से तो टीमों ने बचा लिया था, लेकिन भवन के दो कमरों में रखे रिकॉर्ड को बचाव दल राख के ढेर में तब्दील होने से नहीं बचा पाया था। अब वीरवार रात को भी शरारती तत्वों ने जंगल में चिंगारी सुलगा दी। इससे लोक निर्माण विभाग की कॉलोनी और निजी भवन स्वाह होने से बाल-बाल बचे।उपमंडल अधिकारी अनिल भारद्वाज ने बताया कि शरारती तत्व जंगलों को आग के हवाले कर रहे हैं। ऐसे लोगों पर नकेल कसने के लिए जनता को भी सहयोग करना चाहिए।





Post a Comment

0 Comments

 कई भागों में 21 जुलाई तक मानसून की बारिश जारी